ऑस्ट्रेलिया को जैव विविधता में गिरावट को रोकने के लिए नए जतन करने होंगे

ऑस्ट्रेलिया को जैव विविधता में गिरावट को रोकने के लिए नए जतन करने होंगे
ऑस्ट्रेलिया को जैव विविधता में गिरावट को रोकने के लिए नए जतन करने होंगे कैनबरा, 11 अक्टूबर (आईएएनएस)। पर्यावरणविदों ने ऑस्ट्रेलियाई सरकार को सलाह दी है कि उन्हें जैव विविधता में गिरावट को रोकने के लिए और अधिक प्रयास करने चाहिए।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, पर्यावरण समूहों ने हाल ही में संयुक्त राष्ट्र जैव विविधता सम्मेलन के दौरान पर्यावरण मंत्री सुसान ले से जैव विविधता के नुकसान को रोकने का संकल्प लेने का अनुरोध करने के लिए अभियान में शामिल हुए।

ऑस्ट्रेलिया ने 2030 तक कम से कम 30 प्रतिशत भूमि के संरक्षण के वैश्विक लक्ष्य के लिए प्रतिबद्ध किया है, हालांकि, इसको लेकर कोई वायदा नहीं किया है।

थ्रेटड स्पीशीज रिकवरी हब के निदेशक ब्रेंडन विंटल ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया को इस मुद्दे पर वैश्विक गुट बनने का खतरा था।

उन्होंने अनुमान लगाया कि जैव विविधता के नुकसान को रोकने के लिए ऑस्ट्रेलिया को सालाना 2 अरब डॉलर (1.4 अरब डॉलर) खर्च करने की जरूरत है।

विंटल को रविवार शाम को एक रिपोर्ट में नाइन एंटरटेनमेंट अखबारों द्वारा उद्धृत किया, हम इसे वहन कर सकते हैं, लेकिन हम इसे नहीं कर रहे हैं और यह हमारे नेतृत्व और हमारे समाज पर निर्भर करता है।

ऑस्ट्रेलिया ने 2000 के बाद से 7 मिलियन हेक्टेयर से अधिक खतरे वाली प्रजातियों के आवास को ज्यादातर कृषि उपयोग के लिए साफ कर दिया है।

सरकार ने मार्च में 12 स्तनधारियों सहित 13 देशी प्रजातियों के विलुप्त होने की बात स्वीकार की थी।

यह ज्ञात है कि ऑस्ट्रेलिया में विलुप्त होने वाली स्तनपायी प्रजातियों की संख्या 34 हो गई है।

ऑस्ट्रेलियन कंजर्वेशन फाउंडेशन के नैट पेले ने कहा कि देश की समृद्ध जैव विविधता का मतलब है कि इसमें अधिक हिस्सेदारी है।

उन्होंने कहा, हमें एक ग्रह के रूप में फैसला करना चाहिए और विशेष रूप से ऑस्ट्रेलिया खतरे वाली प्रजातियों को विलुप्त नहीं होने देना चाहिए।

जवाब में, ले के एक प्रवक्ता ने कहा कि सरकार जैव विविधता ढांचे पर काम कर रही है।

--आईएएनएस

एसएस/आरजेएस

Share this story