ऑस्ट्रेलिया में जीत भारतीय क्रिकेट इतिहास की सबसे बड़ी जीत में एक मानी जाएगी : गावस्कर

ऑस्ट्रेलिया में जीत भारतीय क्रिकेट इतिहास की सबसे बड़ी जीत में एक मानी जाएगी : गावस्कर
ऑस्ट्रेलिया में जीत भारतीय क्रिकेट इतिहास की सबसे बड़ी जीत में एक मानी जाएगी : गावस्कर मुंबई, 12 जनवरी (आईएएनएस)। ऑस्ट्रेलिया में बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी 2021 में भारत की जीत को याद करते हुए, भारत के पूर्व कप्तान और महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने कहा कि क्रिकेट इतिहास में यह श्रृंखला भारत की सबसे बड़ी जीत में से एक के तौर पर मानी जाएगी।

गावस्कर ने टिप्पणी करते हुए कहा, डाउन अंडरडॉग्स - इंडियाज ग्रेटेस्ट कमबैक नाम की एक डॉक्यूमेंट्री 14 जनवरी को सोनी स्पोर्ट्स में दिखाई जाएगी।

अजिंक्य रहाणे के नेतृत्व में भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को चार मैचों की श्रृंखला में 2-1 से हराया था। विराट कोहली उस समय टीम में नहीं थे, तब वे घर गए हुए थे।

ऑस्ट्रेलिया द्वारा टेस्ट में भारतीय टीम को 36 रन पर ऑलआउट करने के बाद टीम ने मेलबर्न में जीत हासिल की। भारतीय टीम ने सिडनी में नेल-बाइटिंग ड्रॉ और फिर ब्रिस्बेन के गाबा में एक उल्लेखनीय जीत दर्ज की।

पिछले साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया में भारत की जीत भारतीय क्रिकेट इतिहास की सबसे बड़ी जीत में से एक मानी जाएगी। उस दौरान भारतीय टीम 36 रन पर ऑल आउट हो गई थी, लेकिन उसके बाद जिस तरह से टीम ने अपने आप को संभाला और अन्य मैचों में कमबक किया वो काबिले तारीफ है। गावस्कर ने कहा, इस जीत में मुझे भारतीय क्रिकेट के इतिहास में एक सुनहरा अध्याय लिखे जाने का मौका मिला है।

डॉक्यूमेंट्री के एपिसोड का शीर्षक द एडिलेड एबेरेशन, मेलबर्न मैजिक, द सिडनी सीज और ब्रिस्बेन ब्रीच्ड है।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने एडिलेड में हार के बाद टेस्ट सीरीज में भारत के प्रदर्शन की सराहना की थी।

उन्होंने कहा, भारत ने मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया, टीम के सभी खिलाड़ी, चाहे वे गेंदबाज हो या बल्लेबाज, उन्होंने टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। गेंदबाजों ने अपनी अलग-अलग योजनाएं बनाई जिसमें बल्लेबाजों पर दबाव बना, वही काम भारतीय बल्लेबाजों ने भी किया। अगर वे अपनी एक योजना में सफल नहीं हुए तो उन्होंने अपनी दूसरी योजना अपनाई। इसलिए जीत का श्रेय भारत को जाता है, लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने भी पहले टेस्ट में सफलता हासिल की थी।

गावस्कर और क्लार्क के अलावा, मोहम्मद सिराज और हनुमा विहारी जैसे टेस्ट खिलाड़ियों को चित्रित किया गया है, जिन्होंने भारत में सीरीज जीतने में निर्णायक भूमिका निभाई थी।

--आईएएनएस

एचएमए/आरजेएस

Share this story