क्रिकेट में फिनिशर का रोल निभाना आसान नहीं : कार्तिक

क्रिकेट में फिनिशर का रोल निभाना आसान नहीं : कार्तिक
क्रिकेट में फिनिशर का रोल निभाना आसान नहीं : कार्तिक त्रिनिदाद, 30 जुलाई (आईएएनएस)। भारतीय टीम के मध्यक्रम बल्लेबाज दिनेश कार्तिक को लगता है कि दबाव को झेलने से लेकर मैच की परिस्थितियों का आकलन करने और कुछ ही गेंदों में खुद को ढालने तक बल्लेबाज को एक अच्छा फिनिशर बनाता है।

कार्तिक ने धीमे विकेट पर स्कोरिंग को आसान बना दिया, लगभग 213 की स्ट्राइक रेट से सिर्फ 19 गेंदों में नाबाद 41 रनों की पारी खेली। भारत ने पांच मैचों की सीरीज के शुरूआती टी20 मैच में वेस्टइंडीज के खिलाफ 20 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर 190 रन बनाए। इसके बाद भारत ने मेजबान टीम को 68 रन से हराकर 1-0 की बढ़त बना ली।

कार्तिक ने यह भी कहा कि वह इस साल अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप के दौरान भारत के अभियान में भूमिका निभाने के इच्छुक हैं।

उन्होंने आगे कहा, जब आप मध्य क्रम में टीम के लिए खेलते हैं। तो आपको परिस्थितियों का आकलन करने और गेंद का आकलन करने के मामले में अपने पैरों पर बहुत अधिक ध्यान देना रहता है कि आप किस तरह के शॉट खेल सकते हैं।

कार्तिक ने बीसीसीआई डॉट टीवी पर रविचंद्रन अश्विन के साथ बातचीत में कहा कि उन्होंने फिनिशर की भूमिका निभाई, जहां टीम का रवींद्र जडेजा का विकेट गिरने के बाद कुल स्कोर 160-165 का था। उसके बाद स्कोर पर एक बड़ा अंतर देखा गया। उससे पहले एक ऐसा दौर था, जब हमें टीम में दबाव झेलना पड़ा और उसके बाद हमने और अश्विन ने टीम के दबाव को कम किया और स्कोर 190 तक पहुंचाया।

कार्तिक ने यह भी संकेत दिया कि वह टी 20 विश्व कप में खेलने के लिए कितने उत्सुक हैं। उन्होंने कहा हम टीम के लिए विश्वकप में खेलना चाहते हैं। अंतिम लक्ष्य टी20 विश्व कप जीतना है।

--आईएएनएस

एचएमए/एएनएम

Share this story