गेंदबाजों ने सीरीज में किया बेहतर प्रदर्शन : रोहित शर्मा

गेंदबाजों ने सीरीज में किया बेहतर प्रदर्शन : रोहित शर्मा
गेंदबाजों ने सीरीज में किया बेहतर प्रदर्शन : रोहित शर्मा कोलकाता, 22 नवंबर (आईएएनएस)। भारत ने न्यूजीलैंड को 3-0 से हराकर सीरीज को अपने नाम किया। इस पर टी20 कप्तान रोहित शर्मा ने मेजबान टीम के लिए गेंदबाजों को सीरीज का सबसे बड़ा प्लस पॉइंट बताया है। उन्होंने ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की भी प्रशंसा करते हुए कहा कि खासकर बीच के ओवरों में वो टीम के लिए आक्रामक विकल्प के रूप में मौजूद थे।

नए कप्तान शर्मा और मुख्य कोच राहुल द्रविड़ के नेतृत्व में भारत ने कोलकाता में न्यूजीलैंड को 73 रनों से हराकर 3-0 से सीरीज जीत ली, जिससे ऑस्ट्रेलिया में अगले साल होने वाले टी20 विश्व कप के लिए उनकी तैयारियों की शुरुआत हुई।

शर्मा ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, सीरीज में गेंदबाजों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। हमारी पहले दो टी20 मैचों में न्यूजीलैंड द्वारा विस्फोटक शुरुआत के बाद वास्तव में गेंदबाजों ने वापसी करवाई। हमने तीनों मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया।

क्षेत्ररक्षण को लेकर उन्होंने कहा, जब भी मैं मैदान पर जाता हूं, तो मैं हमेशा सोचना चाहता हूं कि हमने कितने रन बचाए हैं और तीनों मैचों में हमने लगभग 15 रन बचाए। साथ ही रविवार के मैच में दो रन आउट भी किए।

कप्तान शर्मा ने अश्विन की विशेष प्रशंसा की, जिन्होंने विश्व कप के दौरान टी20 में वापसी करने के बाद से नौ विकेट लिए हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में अश्विन ने बीच के ओवरों में रनों पर अंकुश लगाते हुए महत्वपूर्ण विकेट चटकाए।

उन्होंने अश्विन को लेकर आगे कहा, मुझे लगता है कि अश्विन के लिए यह एक शानदार वापसी रही है। उन्होंने लाल गेंद के साथ-साथ सफेद गेंद से भी सबको प्रभावित किया। उनका रिकॉर्ड खराब नहीं है, जिस तरह से उन्होंने दुबई में गेंदबाजी की और फिर यहां दो मैचों में बेहतरीन प्रदर्शन किया। यह उनके गुणों को दर्शाता है जो उसके पास है। वह हमेशा कप्तान के लिए एक आक्रमणकारी विकल्प होते हैं।

शर्मा ने आगे बाएं हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल के साथ अश्विन की साझेदारी के बारे में भी बातचीत करते हुए बताया कि सीरीज में दोनों ने मिलकर न्यूजीलैंड को धूल चटा दी।

शर्मा के अनुसार, बीच के ओवरों में आपको रन रेट, स्कोरिंग रेट पर ब्रेक लगाने और विकेट लेने की जरूरत होती है। इसलिए, मुझे लगता है कि यही अश्विन और अक्षर ने किया। ये दोनों खिलाड़ी विकेट लेने के विकल्प हैं और जब वे गेंदबाजी करते हैं तो यह विरोधी टीम के लिए रन बनाया मुश्किल हो जाता है।

उन्होंने कहा, दोनों खिलाड़ी मैच के दौरान अच्छी गेंदबाजी करते हैं। इसलिए, कप्तान के लिए हमेशा एक अच्छे विकल्प के रूप में महत्वपूर्ण ओवरों में गेंदबाजी करते हुए विकेट लेकर विरोधी टीम पर दबाव में डालते हैं।

भारतीय टीम के माहौल के बारे में बात करते हुए शर्मा ने कहा कि खिलाड़ियों को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए स्वस्थ वातावरण देने की जरूरत है।

शर्मा के मुताबिक, जब आप द्विपक्षीय सीरीज खेल रहे होते हैं तो आपको कई विषयों को ध्यान में रखना होता है और हम ऐसा करने की कोशिश कर रहे हैं। हम टीम में एक स्वस्थ माहौल बनाने की कोशिश करने के साथ खिलाड़ियों को बेहतर सुरक्षा दे रहे हैं ताकि वे मैदान में निडर होकर खेल सकें।

इसके आगे शर्मा ने कहा, आपको हमेशा तब पहचाना जाएगा जब आप अपने हाथों में जिम्मेदारी लेकर दबाव में टीम के लिए कुछ करने की कोशिश करते हैं। यह कप्तान और कोच का काम है कि खिलाड़ियों को बताएं कि जब मौका मिले, तो टीम के लिए अच्छा करने की कोशिश करें।

--आईएएनएस

आरजे/आरजेएस

Share this story