गैंगस्टर की मौत पर बिलखने वाले मौलाना की जोरदार निदा की गई

गैंगस्टर की मौत पर बिलखने वाले मौलाना  की  जोरदार निदा की गई
गैंगस्टर की मौत पर बिलखने वाले मौलाना  की  जोरदार निदा की गई नई दिल्ली, 9 जनवरी (आईएएनएस)।पाकिस्तान में रावलपिंडी के कुख्यात गैंगस्टर ताजी खोखर की मौत के बाद पिछले हफ्ते उसकी याद में प्रसिद्ध पाकिस्तानी इस्लामी उपदेशक तारिक जमील की रोते हुए तस्वीरें सामने आने पर उसकी जोरदार निंदा हुई है।
फ्राइडे टाइम्स ने बताया कि उस कार्यक्रम में मौलाना की मौजूदगी ने ऑनलाइन आक्रोश पैदा कर दिया है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि टेलीविजन और मीडिया में लगातार अपनी उपस्थिति दर्ज कराने वाला यह मौलाना जमील धर्मांतरण करने वाले संगठन तब्लीगी जमात से भी जुड़ा है।

ताजी खोखर एक कुख्यात गैंगस्टर था जो आपराधिक गतिविधियों के अलावा भूमि-हथियाने के आरोपों के साथ-साथ विपक्षी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) से जुड़ा हुआ था । छह जनवरी को उसकी मौत हो गई थी।

फ्राइडे टाइम्स की रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले साल रावलपिंडी पुलिस ने उसे आतंकवादियों की चौथी अनुसूची में रखा था।

मौलाना की उस शोक कार्यक्रम में शिरकत करने और रोने बिलखने संबंधी तस्वीरों को लेकर लोगों ने उनकी जोरदार निंदा की है ।

एक व्यक्ति ने ट्वीट किया मौलवी तारिक जमील ने रावलपिंडी के दिवंगत अंडरवल्र्ड डॉन की शोक सभा को संबोधित किया है। लेकिन मैंने उन्हें कभी किसी झुग्गी या गरीब घर में प्रार्थना करते हुए नहीं देखा,।

अन्य लोगों ने सवाल किया कि इस तरह का एक लोकप्रिय व्यक्ति इस देश में हर धोखाधड़ी / ठगी को वैधता प्रदान कर रहा था।

एक अन्य ने आरोप लगाया कि वह भाड़े पर लिया गया मौलाना था।

एक टिप्पणीकार ने कहा कभी-कभी मैं मौलाना तारिक जमील के खिलाफ नफरत को नहीं समझता, वह एक राजसी और अनुशासित मौलाना है, जाहिर है वह हर जगह नमाज के लिए जाएगा जहां उसे पैस मिलेगा . ,चाहे नवाज, सेना या जो कोई भी बुलाएगा वह दौडा़ चला जाएगा।

ऐसा नहीं है कि मौलाना को इस तरह पहली बार धिककारा गया हो ,वर्ष 2020 में, कोरोनोवायरस महामारी से निपटने के लिए जब महिलाएं धन जुटा रही थीं तो उनके कपड़ों के बारे में मौलाना ने जो टिप्पणी की उस पर भी उसकी काफी फजीहत हुई थी

बाद में उसने अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगी थी।

--आईएएनएस

जेके

Share this story