चीन वैश्विक जैव विविधता संरक्षण का प्रबल समर्थक और योगदान करता है- यूएन कार्यकारी सचिव

चीन वैश्विक जैव विविधता संरक्षण का प्रबल समर्थक और योगदान करता है- यूएन कार्यकारी सचिव
चीन वैश्विक जैव विविधता संरक्षण का प्रबल समर्थक और योगदान करता है- यूएन कार्यकारी सचिव बीजिंग, 8 अक्टूबर (आईएएनएस)। संयुक्तराष्ट्र जैवविविधता संधि के हस्ताक्षरकर्ताओं का 15वां सम्मेलन (सीओपी15) 11 अक्तूबर को दक्षिण पश्चिमी चीन के युन्नान प्रांत के खुनमिंग शहर में आयोजित होगा। संधि के सचिवालय में कार्यकारी सचिव एलिजाबे थमारुमाने हाल की में चीनी समाचार एजेंसी शिन्हुआ को दिए एक इन्टरव्यू में कहा कि चीन वैश्विक जैव विविधता संरक्षण का प्रबल समर्थक और योगदानकता है। चीन द्वारा प्रस्तावित पारिस्थितिक सभ्यता की अवधारणा विभिन्न देशों के लिए वैश्विक जैवविविधता लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए आवश्यक है।

मारुमा ने कहा कि कोविड-19 महामारी के प्रभाव से सीओपी 15 दो बार स्थगित हुआ, और अंत में इस वर्ष अक्तूबर और अगले वर्ष दो चरणों में आयोजित करने का फैसला किया गया। वजह है कि वैश्विक जैव विविधता संरक्षण कार्य अभी बहुत अत्यावश्यक है। उन्होंने चीन सरकार का पहले चरण के सम्मेलन के ऑनलाइन और ऑफलाइन आदि माध्यमों से आयोजन के लिए आभार व्यक्त किया।

मारुमा ने माना कि वैश्विक जैवविविधता एजेंडा में चीन हमेशा एक मजबूत समर्थकऔर योगदान कर्ता रहा है। इसके साथ ही इस संधि और प्रोटोकॉल के मुख्य बजट में चीन सबसे बड़े योगदानकतार्ओं में से एक है। चीन द्वारा सीओपी 15 की मेजबानी करने का प्रस्ताव पेश करने, और मौजूदा सम्मेलन में खुनमिंग घोषणा-पत्र जारी होने से स्पष्ट रूप से जैवविविधता संरक्षण के लिए चीन का नेतृत्व और प्रतिबद्धता प्रदर्शित होती है।

(श्याओथांग)

--आईएएनएस

एएनएम

Share this story