चुनौतियों के बावजूद बेल्ट एंड रोड निर्माण आगे बढ़ रहा

चुनौतियों के बावजूद बेल्ट एंड रोड निर्माण आगे बढ़ रहा
चुनौतियों के बावजूद बेल्ट एंड रोड निर्माण आगे बढ़ रहा बीजिंग, 11 मई (आईएएनएस)। पूरे विश्व में कोरोना का प्रकोप फैल रहा है। अंतरराष्ट्रीय राजनीतिक तथा आर्थिक परिस्थिति भी डांवांडोल के दौर से गुजर रही है, खासकर रूस-यूक्रेन मुठभेड़ से कई गंभीर चिंताएं पैदा हुई हैं। इन सबके बावजूद चीन द्वारा प्रस्तावित बेल्ट एंड रोड निर्माण आगे बढ़ रहा है। चाहे व्यापार हो या बड़ी बुनियादी संस्थापन की परियोजनाएं,चीन और संबंधित देशों के सहयोग में निरंतर प्रगति हासिल की जा रही है।

चीनी कस्टम द्वारा नौ मई को जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार इस जनवरी से इस अप्रैल तक चीन और बेल्ट एंड रोड देशों के बीच आयात-निर्यात की कुल रकम 39 खरब 70 अरब युवान रही, जो पिछले साल की समान अवधि से 15.4 प्रतिशत बढ़ी। इस दौरान चीन के कुल विदेश व्यापार की वृद्धि दर 7.9 प्रतिशत रही अर्थात बेल्ट एंड रोड देशों के साथ चीन के व्यापार की वृद्धि समग्र विदेश व्यापार वृद्धि से 7.5 प्रतिशत अधिक रही, जिससे बड़ी जीवंत शक्ति प्रदर्शित हुई।

गौरतलब है कि 5 मई को चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने राज्य परिषद की स्थाई बैठक में विदेश व्यापार के विकास और गुणवत्ता को बढ़ाने का फैसला किया, ताकि अर्थव्यवस्था, व्यवसाय श्रृंखला और आपूर्ति श्रृखंला की स्थिरता को सुनिश्चित किया जाए। इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि भविष्य में चीन और बेल्ट एंड रोड देशों का व्यापार संबंध और अधिक घनिष्ठ हो जाएगा।

उधर,चीन और बेल्ट एंड रोड देशों के बीच फिलहाल बुनियादी संस्थापन के निर्माण में प्राप्त उपलब्धियां भी ध्यानाकर्षक हैं। मसलन चाइना रेलवे इंटरनेशनल ग्रुप ने हाल ही में बांग्लादेश के संबंधित विभाग के साथ बांग्लादेश की राष्ट्रीय डिजिटल संपर्क योजना के अनुबंध पर हस्ताक्षर किये। यह परियोजना बांग्लादेश के बुनियादी साइबर कार्यक्रम का एक महत्वपूर्ण भाग है। इसे पूरा किये जाने के बाद बांग्लादेश के सरकारी विभागों की कार्य कुशलता में बड़ा सुधार आएगा और संबंधित तकनीकी प्रतिभाएं तैयार किये जाएंगे। इस अप्रैल को चाइना ओवरसीज इंजीनियरिंग ग्रुप और चाइना रेलवे ग्रुप से संयुक्त रूप से निर्मित नेपाली भेरी बाबई बहुउद्देश्यीय परियोजना को सुचारू रूप से नेपाली जल संसाधान और सिंचाई मंत्रालय से जारी प्रदर्शन प्रमाण-पत्र प्राप्त हुआ, जिसका प्रतीक है कि इस परियोजना का निर्माण पूरी तरह संपन्न हो चुका है और इसे नेपाली सरकार और जनता की मान्यता भी प्राप्त हुई है।

यह परियोजना नेपाल के मध्य-पश्चिमी भाग में स्थित है,जो नेपाल में पहला क्रॉस-बेसिन वार्टर डाइवर्जन कार्यक्रम है। इस परियोजना से सूखा-ग्रस्त 51 हजार हेक्टर खेती की सिंचाई पूरी होगी और जल-बिजली का उत्पादन भी होगा। अब दोनों चीनी उद्यम नेपाल की एक अन्य वार्टर डाइवर्जन सुरंग परियोजना के निर्माण में जुटे हुए हैं। उपरोक्त दो मिसाल सिर्फ बेल्ट एंड रोड कार्यक्रम में संलग्न चीनी उद्यमों का एक लघुचित्र है।

उल्लेखनीय बात है कि चीन की बेल्ट एंड रोड पहल खुला और समावेशी है। वह सलाह मशविरे के आधार पर एक साथ निर्माण करने से समान विकास पूरा करने का सार्वजनिक मंच है। अब तक चीन ने 149 देशों और 32 अंतरराष्ट्रीय संगठनों के साथ 200 से अधिक बेल्ट एंड रोड सहयोग दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किये हैं।

(साभार----वेइतुंग, चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)

--आईएएनएस

एएनएम

Share this story