डच टीम के साथ जल्द जुड़ेंगे रेयान कैंपबेल

डच टीम के साथ जल्द जुड़ेंगे रेयान कैंपबेल
डच टीम के साथ जल्द जुड़ेंगे रेयान कैंपबेल पर्थ, 10 मई (आईएएनएस)। डच क्रिकेट कोच रेयान कैंपबेल को कार्डियक अरेस्ट से उबरने के बाद अस्पताल से छुट्टी मिल गई। उन्होंने कहा है कि उन्हें कोमा में रहते हुए अस्पताल में बिताए गए समय के बारे में कुछ भी याद नहीं है और उन्होंने अस्पताल के कर्मियों को जान बचाने के लिए धन्यवाद दिया।

ऑस्ट्रेलिया और हांगकांग के पूर्व क्रिकेटर को पिछले महीने के मध्य में ब्रिटेन में अस्पताल में भर्ती कराया गया, जब वह यूके में थे और जिसके बाद वह कोमा में चले गए थे।

कैंपबेल को पिछले महीने लंदन में दिल का दौरा पड़ा था और हाल ही में डॉक्टरों ने उनका सफल इलाज किया था, जिसमें मस्तिष्क को कोई नुकसान नहीं हुआ था।

आईसीसी ने मंगलवार को कहा कि जांच से पता चला कि दिल को कोई नुकसान नहीं हुआ है।

छुट्टी मिलने पर कैंपबेल ने एनएचएस रॉयल स्टोक यूनिवर्सिटी अस्पताल में अपने तीन सप्ताह के दौरान चिकित्सा कर्मचारियों से मिले उपचार के लिए धन्यवाद दिया है।

पर्थ में ऑस्ट्रेलियाई रेडियो स्टेशन ट्रिपल एम के साथ एक साक्षात्कार में कैंपबेल ने कहा कि उन्हें अस्पताल में सात दिनों के प्रवास के बारे में बहुत कम याद है।

कैंपबेल ने कहा, मुझे कोमा के दौरान हुई कोई भी बात याद नहीं है। जब मैं उठा तो मैं थोड़ा हैरान था, मुझे लगा कि मैं हांगकांग में हूं और मैं अपनी पत्नी से पूछ रहा था कि मैं अपने बच्चों के बिना हांगकांग में कैसे आया।

दो वनडे और तीन टी20 खेल चुके कैंपबेल प्रथम श्रेणी और लिस्ट ए मैचों में शानदार स्कोरर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हाल ही में छाती में संक्रमण या कोविड-19 के कारण मुझे कार्डियक अरेस्ट आया था।

कैंपबेल ने कहा, नवंबर में जब हम दक्षिण अफ्रीका (क्रिकेट विश्व कप सुपर लीग के लिए) गए तो मुझे सीने में संक्रमण हो गया था। मैं थोड़ा बीमार था, लेकिन मैं ठीक था और फिर मुझे फरवरी में कोविड हो गया था, मुझे लगता है कि इसी के कारण मुझे समस्या हुई।

रेयान ने कहा, आखिरकार, मैं दुनियाभर के अपने सभी शुभचिंतकों को धन्यवाद कहना चाहता हूं।

अब यह उम्मीद की जा रही है कि 50 वर्षीय कोच इस महीने के अंत में वेस्टइंडीज के खिलाफ घर में आईसीसी पुरुष क्रिकेट विश्व कप सुपर लीग तीन मैचों की वनडे श्रृंखला से पहले नीदरलैंड के कैंप में फिर से शामिल होंगे।

--आईएएनएस

आरजे/एएनएम

Share this story