डब्ल्यूएचओ ने महामारी के खिलाफ ग्लोबल गवर्नेस का किया आह्वान

डब्ल्यूएचओ ने महामारी के खिलाफ ग्लोबल गवर्नेस का किया आह्वान
डब्ल्यूएचओ ने महामारी के खिलाफ ग्लोबल गवर्नेस का किया आह्वान कोपेनहेगन, 11 सितम्बर (आईएएनएस)। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के पैन-यूरोपीय स्वास्थ्य और सतत विकास आयोग ने वैश्विक शासन(ग्लोबल गवर्नेस) का आह्वान किया और जी20 के तत्वावधान में एक वैश्विक स्वास्थ्य बोर्ड की स्थापना की सिफारिश की।

आयोग ने शुक्रवार को कोपेनहेगन में डब्ल्यूएचओ के क्षेत्रीय कार्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान यह टिप्पणी की।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, डब्ल्यूएचओ ने कोविड -19 के लिए प्रदर्शित किया कि कैसे कुछ शासन संरचनाएं समाज को महामारी के सबसे बुरे प्रभावों से बचाने में विफल रहीं, कुछ देशों ने विज्ञान के बजाय राजनीति से सूचित प्रतिक्रियाओं का सहारा लिया।

आयोग के अध्यक्ष मारियो मोंटी ने कहा, जी20 में वैश्विक स्वास्थ्य और वित्त बोर्ड की स्थापना करके सरकारों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों ने समग्र नीति-निर्माण में स्वास्थ्य नीति की स्थिति को बढ़ाना आवश्यक है, क्योंकि स्वास्थ्य एक वैश्विक सार्वजनिक की जरूरत है।

इसके अलावा, आयोग ने व्यापक क्षेत्र में डेटा-शेयरिंग और डेटा-इंटरऑपरेबिलिटी प्लेटफॉर्म को बेहतर बनाने के लिए पैन-यूरोपियन नेटवर्क फॉर डिजीज कंट्रोल और पैन-यूरोपियन हेल्थ थ्रेट काउंसिल जैसे शासन के क्षेत्रीय निकायों का आह्वान किया।

आयोग ने प्रेस विज्ञप्ति में उल्लेख किया कि कोविड -19 ने दिखाया कि जब हाइपर-कनेक्टेड, वैश्वीकृत दुनिया में संचारी रोगों के प्रसार की बात आती है तो एक-देश समाधान पर्याप्त नहीं होते हैं और इस तरह के संकटों से केवल संयुक्त अंतर्राष्ट्रीय कार्रवाई के माध्यम से प्रभावी ढंग से निपटा जा सकता है।

डब्ल्यूएचओ यूरोप के क्षेत्रीय निदेशक हैंस हेनरी पी. क्लूज ने कहा, हम खंडित समाजों को ठीक करने, ग्रहों के स्वास्थ्य की सुरक्षा, स्वास्थ्य प्रणालियों में नवाचार और निवेश और बेहतर यूरोपीय और वैश्विक शासन पर समाज के सभी स्तरों पर कार्रवाई का आह्वान कर रहे हैं।

क्लूज ने कहा, यह कुछ महत्वपूर्ण सबक सीखने का समय है, ताकी हम फिर से वही गलतियां नहीं करें।

--आईएएनएस

एसएस/आरएचए

Share this story