डब्ल्यूटीए ने ऑस्ट्रेलियाई सरकार के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया

डब्ल्यूटीए ने ऑस्ट्रेलियाई सरकार के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया
डब्ल्यूटीए ने ऑस्ट्रेलियाई सरकार के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया मेलबर्न, 12 जनवरी (आईएएनएस)। महिला टेनिस संघ (डब्ल्यूटीए) ने चेक खिलाड़ी रेनाटा वोराकोवा को देश में रहने के लिए आवश्यक प्रक्रियाओं का पालन करने के बाद भी उनको वापस भेजने के ऑस्ट्रेलिया सरकार के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। ऑस्ट्रेलियन ओपन 17 जनवरी से शुरू हो रहा है।

ऑस्ट्रेलियाई सीमा बल (एबीएफ) ने 6 जनवरी को वोराकोवा का वीजा रद्द कर दिया था। 38 वर्षीय वोराकोवा, जो पहले ही मेलबर्न में एक अभ्यास टूर्नामेंट में खेल चुकी हैं, उनको होटल से हिरासत में लिया गया है, जहां नोवाक जोकोविच मौजूद थे।

ऐसा माना जा रहा है कि रेनाटा ने पिछले महीने टेनिस ऑस्ट्रेलिया द्वारा दी गई वैक्सीन छूट के साथ यहां आई थी, क्योंकि वह हाल ही में कोरोना संक्रमण से ठीक हुई थी।

डब्ल्यूटीए ने बुधवार को एक बयान में कहा कि वोराकोवा ने सभी नियमों और प्रक्रियाओं का पालन किया और फिर भी उसे देश छोड़ने के लिए कहा गया।

इसे लेकर ऑस्ट्रेलिया में चेक राजनयिकों ने भी ऑस्ट्रेलियाई अधिकारियों के समक्ष औपचारिक विरोध दर्ज कराया था।

--आईएएनएस

आरजे/आरजेएस

Share this story