तमिलनाडु पुलिस साइबर अपराधों की जांच में आईटी छात्रों को शामिल करेगी

तमिलनाडु पुलिस साइबर अपराधों की जांच में आईटी छात्रों को शामिल करेगी
तमिलनाडु पुलिस साइबर अपराधों की जांच में आईटी छात्रों को शामिल करेगी चेन्नई, 1 अगस्त (आईएएनएस)। कोयंबटूर पुलिस सूचना प्रौद्योगिकी के उन छात्रों के साथ हाथ मिलाने के लिए तैयार है, जो साइबर अपराधों की जांच के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और एथिकल हैकिंग में विशेषज्ञता रखते हैं।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया कि साइबर अपराधों की अच्छी जानकारी रखने वाले छात्रों से सलाह लेने और ऐसे अपराधों को रोकने में उनका समर्थन पाने के लिए यह एक कदम है।

कोयंबटूर पुलिस ने छात्रों, विशेष रूप से कॉलेज के छात्रों के बीच साइबर अपराध जागरूकता पहल शुरू की है, जो सोशल मीडिया और अन्य एप पर सक्रिय हैं।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा: जो छात्र आईटी, सॉफ्टवेयर पाठ्यक्रम और एपलिकेशन विकास पाठ्यक्रम पढ़ रहे हैं, उन्हें साइबर अपराधों के बारे में जानकारी होगी और वे पुलिस को इन अपराधों में शामिल लोगों की पहचान करने की सलाह देने में सक्षम होंगे।

अधिकारियों के पास एक पूर्ण साइबर अपराध प्रकोष्ठ है, लेकिन वरिष्ठ अधिकारियों को लगता है कि सॉफ्टवेयर और आईटी प्रौद्योगिकियों में नवीनतम रुझानों के अच्छे ज्ञान के साथ उज्‍जवल युवा दिमाग को शामिल करना, विभाग के लिए एक अतिरिक्त लाभ होगा।

इस पहल की निगरानी तमिलनाडु पुलिस साइबर क्राइम विंग द्वारा की जा रही है और यदि छात्रों के साथ जुड़ाव मददगार साबित होता है, तो इस परियोजना को पूरे राज्य में विस्तारित किया जाएगा।

तमिलनाडु साइबर सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, कोयंबटूर पुलिस की परियोजना की निगरानी के बाद, अगर हम जिन छात्रों से जुड़े हैं, वे उचित परिणाम दे रहे हैं, तो हम इसे पूरे राज्य में विस्तारित करने की योजना बना रहे हैं।

--आईएएनएस

आरएचए/एएनएम

Share this story