तालिबान संस्कृति मंत्रालय ने आईएस को एक खतरे के बजाय सिरदर्द बताया

तालिबान संस्कृति मंत्रालय ने आईएस को एक खतरे के बजाय सिरदर्द बताया
तालिबान संस्कृति मंत्रालय ने आईएस को एक खतरे के बजाय सिरदर्द बताया काबुल, 8 अक्टूबर (आईएएनएस)। अफगानिस्तान में तालिबान सरकार के सूचना और संस्कृति मंत्रालय के एक शीर्ष अधिकारी ने आतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट (आईएस) को एक खतरे के बजाय सिरदर्द कहा है। हालिया मीडिया रिपोर्ट्स में यह जानकारी दी गई है।

सूचना और संस्कृति मंत्रालय के उप मंत्री जबीहुल्लाह मुजाहिद ने कहा, हम दाएश (आईएस) को खतरा नहीं कहते हैं, लेकिन हम इसे सिरदर्द कहते हैं और यह कुछ स्थानों पर सिरदर्द पैदा करता है।

इसके साथ ही मुजाहिद ने कहा कि समूह को जल्द ही दबा दिया जाएगा और यह हर घटना में तुरंत दूर हो जाता है या उन्हें खदेड़ दिया जाता है।

मंत्री ने कहा कि अफगानिस्तान के लोग आईएस का समर्थन नहीं करते हैं।

हालांकि, राजनीतिक विशेषज्ञों ने आईएस को अफगानिस्तान के लिए एक गंभीर समस्या बताते हुए चेतावनी दी है कि अगर समूह का मुकाबला करने के लिए जबरदस्त प्रयास नहीं किए गए, तो यह अपनी गतिविधियों का विस्तार करेगा।

राजनीतिक विश्लेषक तमीम बहिस ने कहा, दाएश (आईएस) के पास अंतर्राष्ट्रीय और क्षेत्रीय समर्थन नहीं है और बिना समर्थन के दाएश लंबे समय तक लड़ने में सक्षम नहीं होगा। हालांकि, दाएश के साथ लड़ाई तालिबान के लिए समस्याएं पैदा करेगी।

इस्लामिक अमीरात ने हाल ही में काबुल के पगमान जिले में आईएस से जुड़े चार सदस्यों को गिरफ्तार किया था, जबकि दो अन्य आतंकवादियों को पूर्वी प्रांत नंगरहार में पकड़ा गया था।

यह तब सामने आया है, जब अंतर्राष्ट्रीय समुदाय ने अफगानिस्तान में आईएस की संभावित उपस्थिति पर चिंता व्यक्त करना जारी रखा है।

--आईएएनएस

एकेके/आरजेएस

Share this story