दिल्ली के वकील को मिली सिर काटने की धमकी, केस दर्ज

दिल्ली के वकील को मिली सिर काटने की धमकी, केस दर्ज
दिल्ली के वकील को मिली सिर काटने की धमकी, केस दर्ज नई दिल्ली, 27 जुलाई (आईएएनएस)। दिल्ली के एक वकील ने बुधवार को एक धमकी भरा नोट मिलने के बाद पुलिस सुरक्षा मांगी, जिसमें धमकी दी गई थी कि बहुत जल्द उसका सिर काट दिया जाएगा।

एडवोकेट विनीत जिंदल ने आईएएनएस को बताया, जब मैं घर पहुंचा, तो मुझे अपने घर के प्रवेश द्वार के पास फर्श पर एक नोट मिला, जिसमें उनका सिर काटने की धमकी दी गई इसके बाद मैंने तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दी।

पुलिस ने तदनुसार, भारतीय दंड संहिता की धारा 506 (आपराधिक धमकी के लिए सजा) के तहत एक गैर-सं™ोय रिपोर्ट दर्ज की और कहा कि उन्होंने मामले की जांच शुरू कर दी है।

पुलिस द्वारा दर्ज गैर-सं™ोय रिपोर्ट में, जिंदल ने दावा किया कि पहले भी उन्हें फोन पर धमकी दी गई थी और अमेरिका, कनाडा और ताइवान से कई कॉल प्राप्त हुए थे। विशेष रूप से, जिंदल, जो एक सामाजिक कार्यकर्ता भी हैं, उन्होंने पहले भी बहुसंख्यक समुदाय की धार्मिक भावनाओं को आहत करने का प्रयास करने वाले लोगों के खिलाफ कई बार पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

जिंदल ने 14 जुलाई को राजस्थान के अजमेर के आदिल चिश्ती के खिलाफ हिंदू धर्म के देवताओं के खिलाफ कथित भड़काऊ और भड़काऊ टिप्पणी के लिए शिकायत दर्ज कराई थी।

जिंदल ने अपनी शिकायत में लिखा था, अपने शब्दों से, चिश्ती ने हिंदू समुदाय के देवताओं को निशाना बनाया और विशेष समुदायों के बीच नफरत फैलाने के लिए उनका मजाक उड़ाया। उनके द्वारा दिए गए बयान की सामग्री स्पष्ट रूप से हिंदू समुदाय को भड़काने की उनकी मंशा को दर्शाती है।

हाल ही में जिंदल ने अपनी नई डॉक्यूमेंट्री के एक विवादित पोस्टर को लेकर निर्देशक लीना मणिमेकलाई के खिलाफ शिकायत भी दर्ज कराई थी। शिकायत पर विचार किया गया और मणिमेकलाई के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई।

जिंदल ने आईएएनएस से बात करते हुए यह भी बताया कि उन्हें पहले भी बब्बर खालसा और सिख जैसे प्रतिबंधित आतंकवादी संगठनों से न्याय के लिए धमकी भरे फोन आ चुके हैं।

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने खतरे का आकलन किया और एडवोकेट जिंदल को एक पीएसओ दिया गया था। हालांकि, उन्हें और उनके परिवार को लगातार और अधिक घातक धमकियों के बाद, जिंदल अधिक सुरक्षा कवर की मांग कर रहे हैं क्योंकि उनका परिवार लगातार चिंतित है और डर में जी रहा है।

--आईएएनएस

एसकेके/एएनएम

Share this story