दिल्ली: वैवाहिक साइटों पर महिलाओं के साथ धोखाधड़ी मामले में महिला आयोग ने वेबसाइटों को जारी किया नोटिस

दिल्ली: वैवाहिक साइटों पर महिलाओं के साथ धोखाधड़ी मामले में महिला आयोग ने वेबसाइटों को जारी किया नोटिस
दिल्ली: वैवाहिक साइटों पर महिलाओं के साथ धोखाधड़ी मामले में महिला आयोग ने वेबसाइटों को जारी किया नोटिस नई दिल्ली, 2 अगस्त (आईएएनएस )। वैवाहिक पोर्टल पर महिलाओं के साथ धोखाधड़ी की कई घटनाओं के सामने आने के बाद दिल्ली महिला आयोग ने स्वत: संज्ञान लेते हुए वैवाहिक साइटों को नोटिस जारी किया है। आयोग ने साइटों द्वारा अपने महिला उपयोगकतार्ओं की सुरक्षा और नकली प्रोफाइल बनाने से रोकने के लिए किए गए विभिन्न सुरक्षा उपायों की जानकारी देने के लिए कहा है।

आयोग के मुताबिक, दिल्ली में एक मामला सामने आया, जिसमें एक व्यक्ति को देश भर में 100 से अधिक महिलाओं को कथित तौर पर वैवाहिक साईट पर फर्जी प्रोफाइल बनाकर शादी का प्रस्ताव देने और फिर उनसे पैसे ऐंठने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। इससे पहले ओडिशा में भी एक मामला सामने आया था जिसमें एक पुरुष ने पिछले कुछ वर्षों में वैवाहिक पोर्टलों पर फर्जी प्रोफाइल बनाकर 27 अलग-अलग महिलाओं से शादी कर रहा था।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने कहा, ह्लजहां हजारों लोग अपने जीवन साथी की तलाश के लिए मैट्रिमोनियल पोर्टल्स का उपयोग करते हैं, वहां धोखाधड़ी और उत्पीड़न को रोकने के लिए सिस्टम होना चाहिए। यह कैसे संभव हुआ कि एक आदमी इन पोर्टलों के माध्यम से 27 शादियां करने में सफल रहा? हमने नोटिस जारी किए हैं और यह सुनिश्चित करने के लिए सभी प्रयास करेंगे कि इन पोर्टलों पर महिलाओं के खिलाफ किसी भी तरह के अपराध को रोकने के लिए उचित सुरक्षा उपाय किए जाएं।

आयोग ने यह भी पूछा, क्या इन पोर्टलों पर प्रोफाइल बनाने के लिए आधार कार्ड, किसी अन्य फोटो पहचान दस्तावेज की आवश्यकता है। इसके अलावा आयोग ने फर्जी प्रोफाइल बनाने, सूचना छिपाने, यौन उत्पीड़न, ब्लैकमेलिंग, जबरन वसूली आदि के संबंध में पोर्टल को प्राप्त शिकायतों की जानकारी के साथ-साथ ऐसी शिकायतों से निपटने के लिए उठाए गए कदमों का विवरण भी मांगा है।

आयोग ने 2018 के बाद से साइटों द्वारा ब्लैकलिस्ट किए गए प्रोफाइल की संख्या के साथ प्रोफाइल को ब्लैकलिस्ट करने की प्रक्रिया की भी जानकारी देने को कहा है। इसके अलावा, आयोग ने पोर्टलों को ऐसे लोगों से महिला की पहचान गुप्त रखने के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी देने को कहा जिनके साथ वह बात नहीं करना चाहती है।

--आईएएनएस

एमएसके/एएनएम

Share this story