पीएसएल के प्रायोजक ने भारत से कमाया पैसा

पीएसएल के प्रायोजक ने भारत से कमाया पैसा
पीएसएल के प्रायोजक ने भारत से कमाया पैसा नई दिल्ली, 15 मई (आईएएनएस)। दोनों देशों के बीच राजनीतिक तनाव के कारण पाकिस्तान के क्रिकेटरों को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में शामिल होने की अनुमति नहीं है।

सिर्फ आईपीएल ही नहीं दोनों देशों ने 2012 के बाद से कोई द्विपक्षीय क्रिकेट श्रृंखला नहीं खेली है। दोनों देश केवल आईसीसी और एशियाई टूर्नामेंट में एक-दूसरे का सामना करते हैं।

हालांकि, किसी को यह जानकर आश्चर्य होगा कि पिछले साल पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) के प्रायोजकों में से एक ने अपना अधिकांश पैसा भारत से कमाया है।

भारत में इस समय कई बेटिंग ऐप चल रहे हैं, जिनमें से एक स्काई247डॉट नेट है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, वेस्टइंडीज के कुराकाओ द्वीप से संचालित होने वाले इस ऑनलाइन बेटिंग एप के 70 फीसदी ग्राहक भारतीय हैं, यानी कंपनी की ज्यादातर कमाई भारतीय ग्राहकों से होती है।

कंपनी 2,640 करोड़ रुपये की ब्रांड वैल्यू वाली पीएसएल की प्रायोजकों में से एक थी।

इतना ही नहीं, सट्टेबाजी कंपनी पिछले साल अबू धाबी में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेली गई पाकिस्तान की टी20 सीरीज की भी प्रायोजक थी।

इसके अलावा पिछले दो सालों में कंपनी श्रीलंका प्रीमियर लीग, यूएई और आयरलैंड के बीच खेली जाने वाली टी20 सीरीज, कई टी10 और टी20 सीरीज के अलावा भारतीय क्रिकेट के श्रीलंका दौरे को भी प्रायोजित कर रही है।

भारत में सट्टेबाजी को लेकर देशभर की पुलिस काफी गंभीर है, लेकिन ऑनलाइन सट्टेबाजी को रोकना मुश्किल नजर आ रहा है।

इसी तरह के एक मामले में 2019 में दिल्ली हाई कोर्ट ने सरकार से यह तय करने को कहा था कि ऑनलाइन सट्टेबाजी पर प्रतिबंध लगाया जाए या नहीं। सरकार ने तब कहा था कि वे विदेशों से संचालित होने वाली वेबसाइटों पर प्रतिबंध नहीं लगा सकती।।

--आईएएनएस

एचएमए/एसकेपी

Share this story