पुनरुत्थान के लिए गांवों का विकास जरूरी

पुनरुत्थान के लिए गांवों का विकास जरूरी
पुनरुत्थान के लिए गांवों का विकास जरूरी बीजिंग, 27 अप्रैल (आईएएनएस)। चीन पुनरुत्थान चाहता है, तो गांवों का विकास करना होगा। यह बात चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने कही। ग्रामीण पुनरुत्थान की रणनीति का कार्यांवयन सुनिश्चित करने के लिए ग्रामीण पुनरुत्थान संवर्धन कानून 29 अप्रैल 2021 को पारित हुआ और 1 जून को प्रभावी हुआ। इससे नए युग में ग्रामीण आधुनिकीकरण बढ़ाने के लिए गारंटी दी गई।

चीन सरकार ग्रामीण पुनरुत्थान पर बड़ा महत्व देती है। सरकार ने सिलसिलेवार कदम उठाए, ग्रामीण कार्य नियमावली जारी की, रणनीतिक योजना बनायी और राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया।

चीनी राज्य परिषद के न्यूज कार्यालय द्वारा जारी चीन में चतुर्मुखी खुशहाल समाज शीर्षक श्वेत पत्र में कहा गया है कि ग्रामीण पुनरुत्थान चीन की महत्वपूर्ण रणनीति है। कई सालों के प्रयास के बाद इसमें बहुत उपलब्धियां हासिल हुई हैं।

चीन में अनाज की पैदावार लगातार 7 सालों से 6.5 खरब किलोग्राम से अधिक रही। कोविड-19 महामारी और बाढ़ आदि प्राकृतिक आपदा आने के बावजूद चीन में अच्छी फसल हुई। 1.4 अरब चीनी लोगों की खाने की कोई मुश्किल नहीं हुई।

कृषि आधुनिकीकरण की गति में काफी तेजी आई है। कृषि विज्ञान और प्रौद्योगिकी प्रगति की योगदान दर 60 प्रतिशत से अधिक रही। खेती और कटाई की मशीनीकरण दर 71 प्रतिशत तक पहुंची। ग्रामीण पर्यटन और ग्रामीण ई-कॉमर्स आदि नए व्यवसाय सामने आए हैं।

चीन में गरीबी उन्मूलन में विजय हासिल हुई। ग्रामीण क्षेत्रों में 9 करोड़ 89 लाख 90 हजार गरीब लोग गरीबी से बाहर निकले। गांव में बुनियादी संस्थापनों का निर्माण तेज बना रहा। बिजली, सड़क और 4जी नेटवर्क हर गांव में उपलब्ध है। गांव में वातावरण काफी अच्छा हो गया है।

चीन एक कृषि प्रधान देश है। नए चीन की स्थापना के बाद चीन के गांवों में बहुत बड़ा परिवर्तन हुआ है। गरीबी उन्मूलन की लड़ाई में विजय पाने के बाद चीन गांवों को सुंदर बनाने और किसानों को अमीर बनाने की दिशा में बढ़ रहा है।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

--आईएएनएस

एएनएम

Share this story