पुरुष और महिला हॉकी टीम की अगली प्राथमिकता एशियाई खेलों में स्वर्ण लाना होनी चाहिए : गुरबक्स

पुरुष और महिला हॉकी टीम की अगली प्राथमिकता एशियाई खेलों में स्वर्ण लाना होनी चाहिए : गुरबक्स
पुरुष और महिला हॉकी टीम की अगली प्राथमिकता एशियाई खेलों में स्वर्ण लाना होनी चाहिए : गुरबक्स नई दिल्ली, 10 सितम्बर (आईएएनएस)। हॉकी में दो बार के ओलंपिक खेलों के पदक विजेता गुरबक्स सिंह ने कहा है कि पुरुष और महिला हॉकी टीमों की अगली प्राथमिकता एशियाई खेलों में स्वर्ण लाना होनी चाहिए जिससे वे 2024 पेरिस ओलंपिक के लिए ऑटोमेटिक कोटा हासिल कर सकें।

गुरबक्स, जो 1964 के टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक और 1968 के मैक्सिको ओलंपिक में संयुक्त रूप से कांस्य पदक जीतने वाली टीम के सदस्य थे, उन्होंने कहा कि टीम ने 41 वर्षो के बाद ओलंपिक पदक जीतकर सभी को गौरवान्वित और खुश किया है।

गुरबक्स ने कहा, टीम ने 41 साल के लंबे अंतराल के बाद ओलंपिक पदक जीतकर सभी को गौरवान्वित और खुश किया है। उन्हें इस पल का आनंद लेना चाहिए, लेकिन ध्यान रखें कि अब हम अपनी प्रशंसा पर आराम नहीं कर सकते। अब जब टीम को सफलता मिल गई है, तो उन पर एक लक्ष्य होगा और अन्य टीमें अब भारत के खिलाफ कड़ी मेहनत करेंगी।

उन्होंने कहा, हमें अगले ओलिंपिक के लिए पूरी तैयारी से शुरूआत करनी होगी और इससे भी बेहतर करने का लक्ष्य रखना होगा। टीम को एशियाई खेलों (2022 हांग्जो), फिर एफआईएच पुरुष विश्व कप और 2024 पेरिस ओलंपिक से शुरूआत करके एक समय में एक लक्ष्य निर्धारित करना होगा।

ओलंपिक में महिला टीम के प्रदर्शन के बारे में, जहां टीम चौथे स्थान पर रही, गुरबक्स ने कहा, मैंने उनकी यात्रा को बारीकी से देखा है और ओलंपिक में उनके सभी मैच देखे हैं। उन्होंने उम्मीदों से परे प्रदर्शन किया है और उन्हें अपने पर बहुत गर्व होना चाहिए। ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से हराना और फिर उस स्तर के प्रदर्शन को सेमीफाइनल और कांस्य पदक मैच में ले जाना एक बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने सफलता का स्वाद भी चखा है और अब उन्हें एशियाई खेलों को जीतने को प्राथमिकता देनी होगी, जो आसान नहीं होने वाला है।

--आईएएनएस

एसकेबी

Share this story