भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने राष्ट्रमंडल खेलों 2022 में भारत का पहला स्वर्ण पदक जीता (लीड-1)

भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने राष्ट्रमंडल खेलों 2022 में भारत का पहला स्वर्ण पदक जीता (लीड-1)
भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने राष्ट्रमंडल खेलों 2022 में भारत का पहला स्वर्ण पदक जीता (लीड-1) बमिर्ंघम, 30 जुलाई (आईएएनएस)। पूर्व विश्व चैंपियन और राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता मीराबाई चानू सैखोम ने यहां 2022 राष्ट्रमंडल खेलों में भारत का पहला स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने महिलाओं की 49 किलोग्राम भारोत्तोलन में शानदार प्रदर्शन कर यह मुकाम हासिल किया।

एक समय में इस भार वर्ग में विश्व रिकॉर्ड रखने वाली टोक्यो ओलंपिक खेलों की रजत पदक विजेता मीराबाई ने राष्ट्रीय प्रदर्शनी केंद्र में हॉल नंबर 3 में रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक जीतने के लिए कुल 201 किलोग्राम भार उठाया।

इस भार वर्ग में अब तक के सर्वश्रेष्ठ भारोत्तोलक, मणिपुर के 27 वर्षीय ने स्नैच में 88 किग्रा भार उठाया और फिर विपक्षी को पीछे छोड़ने के लिए क्लीन एंड जर्क से 113 किग्रा जोड़ा। मीराबाई ने स्वर्ण पदक के लिए 201 किग्रा भार उठाया, जबकि मॉरीशस की मैरी हनीत्रा रोइल्या रानाइवोसोआ ने कुल 172 किग्रा के साथ रजत, कनाडा की हन्ना कामिनिस्की ने कुल 171 किग्रा के साथ कांस्य पदक जीता।

चार साल पहले मीराबाई ने गोल्ड कोस्ट में स्वर्ण पदक जीता था जबकि रानाइवोसोआ दूसरे स्थान पर रही थी। बमिर्ंघम में भी यही क्रम रहा।

संकेत सरगर (55 किग्रा) और गुरुराजा पुजारी (61 किग्रा) ने दिन में क्रमश: रजत और कांस्य पदक जीता।

मीराबाई ने स्नैच में 88 किलो वजन उठाने के बाद प्रतियोगियों के आगे बढ़ने का इंतजार किया, वहीं दूसरे और तीसरे स्थान के लिए चार भारोत्तोलकों के बीच कड़ी टक्कर थी।

पदक समारोह के बाद मीराबाई ने कहा, मैं यहां अपने प्रदर्शन से खुश हूं। रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक जीतना हमेशा अच्छा होता है। मैंने स्वर्ण पदक जीतने की उम्मीद की थी और ऐसा करने में कामयाब रही।

उसने कहा कि वह स्नैच में 88 किग्रा भार उठाकर खुश है और स्नैच में 90 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 115 किग्रा से चूकने से निराश नहीं है।

टोक्यो ओलंपिक खेलों के बाद मैंने स्नैच में अपने प्रदर्शन में सुधार करने पर काम किया और मुझे यहां अच्छा प्रदर्शन करने में खुशी हो रही है। मैं अगले कुछ महीनों में अच्छा प्रदर्शन करना जारी रखूंगा क्योंकि मेरा लक्ष्य दिसंबर में विश्व चैंपियनशिप में अच्छा प्रदर्शन करना है।

--आईएएनएस

आरएचए/एएनएम

Share this story