मध्य अफ्रीकी गणराज्य में गबोन शांतिरक्षकों के खिलाफ यौन शोषण के आरोपों की जांच कर रहा यूएन

मध्य अफ्रीकी गणराज्य में गबोन शांतिरक्षकों के खिलाफ यौन शोषण के आरोपों की जांच कर रहा यूएन
मध्य अफ्रीकी गणराज्य में गबोन शांतिरक्षकों के खिलाफ यौन शोषण के आरोपों की जांच कर रहा यूएन संयुक्त राष्ट्र, 9 अक्टूबर (आईएएनएस)। संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के अधिकारी मध्य अफ्रीकी गणराज्य (सीएआर) में गबोन शांतिरक्षकों (पीसकीपर्स) के खिलाफ आठ बच्चों सहित 32 पीड़ितों के यौन शोषण के आरोपों की जांच कर रहे हैं।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के मुख्य प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा कि राष्ट्रीय गबोन अधिकारी और संयुक्त राष्ट्र आंतरिक निरीक्षण सेवा कार्यालय की ओर से जांच की जा रही है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने दुजारिक के हवाले से कहा कि सीएआर में संयुक्त राष्ट्र के वरिष्ठ पीड़ितों के अधिकार अधिवक्ता जांच का समर्थन कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, इस आरोप के साथ कुल 11 पितृत्व दावे दर्ज किए गए हैं, जहां या तो बच्चे का जन्म हुआ है या पीड़िता वर्तमान में गर्भवती है।

51 कथित अपराधियों की पहचान अज्ञात है और फिलहाल जांच के परिणाम लंबित हैं।

प्रवक्ता ने कहा कि सीएआर में संयुक्त राष्ट्र मिशन, जिसे मिनुसका के नाम से जाना जाता है और वरिष्ठ पीड़ितों के अधिकार अधिकारी जांच में सहायता कर रहे हैं और पीड़ितों के अधिकारों और सम्मान को बरकरार रखा गया है।

उन्होंने कहा कि कथित दुर्व्यवहार और शोषण 2014 से इस साल की शुरूआत तक हुआ।

पिछले महीने, महासचिव ने उनके नेतृत्व सहित 410 गैबोनी सैनिकों को गबोन वापस भेजने का आदेश दिया था।

प्रवक्ता ने कहा कि अंतिम 40 गैबोनी सैनिक दल के उपकरणों की सुरक्षा के लिए सीएआर में ही हैं।

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र के शांति रक्षकों खासतौर से मध्य अफ्रीकी गणराज्य और कांगो में तैनात कर्मियों पर बच्चों के दुष्कर्म और अन्य यौन शोषण के आरोप लंबे समय से लगते रहे हैं।

--आईएएनएस

एकेके/एएनएम

Share this story