महाराजा टी20 ट्रॉफी में प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को खेलने का मिलेगा मौका : पडिक्कल

महाराजा टी20 ट्रॉफी में प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को खेलने का मिलेगा मौका : पडिक्कल
महाराजा टी20 ट्रॉफी में प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को खेलने का मिलेगा मौका : पडिक्कल बेंगलुरु, 1 अगस्त (आईएएनएस)। युवा सलामी बल्लेबाज देवदत्त पडिक्कल को लगता है कि आगामी महाराजा केएससीए ट्रॉफी कर्नाटक में प्रतिभाशाली क्रिकेटरों के लिए एक बेहतरीन मंच प्रदान करेगी।

टूर्नामेंट के हालिया ड्राफ्ट में, पडिक्कल को भारत और कर्नाटक के सहयोगी मनीष पांडे के साथ गुलबर्गा मिस्टिक टीम में शामिल किया गया था।

पडिक्कल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए शानदार प्रदर्शन के साथ राष्ट्रीय टीम में भी रहे हैं। इससे पहले 2022 सीजन से पहले मेगा-नीलामी में राजस्थान रॉयल्स द्वारा चुने गए थे, जहां वे उपविजेता रहे थे। वह पूर्ववर्ती कर्नाटक प्रीमियर लीग (केपीएल) में बेल्लारी टस्कर्स के लिए भी खेल चुके हैं।

उन्होंने कहा, कर्नाटक में काफी प्रतिभा है और मैंने बड़े होने के दौरान ज्यादातर खिलाड़ियों के साथ खेला है। मैंने राज्य के विभिन्न हिस्सों से खिलाड़ियों को आते देखा है। इसलिए, वे बेंगलुरु के खिलाड़ियों से कम प्रतिभाशाली नहीं हैं।

उन्होंने कहा, उन्हें निश्चित रूप से अवसर दिए जाने की आवश्यकता है और मुझे लगता है कि यह टूर्नामेंट वह अवसर प्रदान करेगा।

पडिक्कल ने पिछले साल श्रीलंका के अपने दौरे पर भारतीय टीम के लिए दो टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले थे, मैदान पर अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए दृढ़ विश्वास रखते हैं, भले ही उन्हें प्लेइंग इलेवन में चुना गया हो या नहीं।

उन्होंनेक कहा, मैं अपने पूरे करियर में आगे बढ़ता रहा हूं और अचानक कोई बड़ी छलांग नहीं लगी है। यह अंडर-14 से शुरू हुआ और फिर रणजी टीम तक और यह प्रगति की एक उचित प्रक्रिया रही है।

उन्होंने कहा, केपीएल भी मेरे लिए सही समय पर आया क्योंकि मुझे लगता कि मैं यहां बेहतर प्रदर्शन करने के लिए तैयार हूं। भारत में कहीं भी किसी भी युवा क्रिकेटर के लिए बहुत अच्छा मंच है।

पडिक्कल ने कहा, जब मैं अंडर-16 में खेल रहा था, तब चयन और टीम के लिए खेलने के लिए चुने जाने के मामले में मेरी मानसिकता बदल गई, और अगर मुझे नहीं चुना गया होता, तो यह मुझे कभी परेशान नहीं करता। मैं सिर्फ खेल खेलने और आनंद लेने की कोशिश कर रहा था।

यह पूछे जाने पर कि व्यस्त क्रिकेट कैलेंडर के दौरान वह खुद को कैसे फिट रखते हैं, पडिक्कल ने स्वस्थ खाने और प्रशिक्षण के दौरान आवश्यक सही चीजें करने पर जोर देता हूं।

गुलबर्गा मिस्टिक टीम: मंसूर अली खान (कोच), राजशेखर शानबल (सहायक कोच), संतोष वी (चयनकर्ता), सच्चिदानंद (वीडियो विश्लेषक)।

खिलाड़ी: मनीष पांडे, देवदत्त पडिक्कल, कार्तिक सीए, मनोज भांडागे, विद्वत कावेरप्पा, कृतिक कृष्णा, अभिलाष शेट्टी, कुशल एम वाधवानी, प्रणव भाटिया, श्रीजीत केएल (विकेटकीपर), रितेश भटकल, मोहित बीए, रोहन पाटिल, धनुष गौड़ा, मोहम्मद आकिब जावेद, श्रीशा आचार, जेशवंत आचार्य और एरोन क्रिस्टी।

--आईएएनएस

आरजे/एएनएम

Share this story