मैं सफल हुआ हूं, क्योंकि मेरी दिनचर्या काफी कठिन है : सुनील छेत्री

मैं सफल हुआ हूं, क्योंकि मेरी दिनचर्या काफी कठिन है : सुनील छेत्री
मैं सफल हुआ हूं, क्योंकि मेरी दिनचर्या काफी कठिन है : सुनील छेत्री नई दिल्ली, 23 नवंबर (आईएएनएस)। भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान और साथ ही इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) में बेंगलुरु एफसी के कप्तान सुनील छेत्री अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 84 गोल के साथ सर्वकालिक सक्रिय स्कोरर की सूची में तीसरे स्थान पर हैं। केवल पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो और अर्जेंटीना के लियोनेल मेसी ही उनसे आगे हैं।

छेत्री ने यूट्यूब पर क्रेड क्यूरियस शो के एपिसोड पर खुलासा किया कि कैसे वह फुटबॉल के ²श्य में लंबे समय तक सफल रहे हैं। यदि आप रोनाल्डो बनना चाहते हैं, तो आपको एक अलग रास्ता अपनाना होगा। बहुत से लोग इसे नहीं समझ रहे हैं क्योंकि यह मुश्किल दिनचर्या है।

एक दशक से अधिक समय से भारतीय फुटबॉल टीम के बहुमुखी प्रतिभा के धनी माने जाने वाले छेत्री को एक सफल फुटबॉलर बनने की राह में कई दिल टूटने वाले मौके आए।

उन्होंने कहा, जिसमें से एक समय मुझे गंभीर चोट लगी थी। मैं 2 से 3 सप्ताह और इंतजार कर सकता था, लेकिन मैंने इसे जल्दी ठीक करने का प्रयास किया। और फिर, मैं 6 महीने के लिए बाहर हो गया था और मुझे लगता है कि यह मेरे जीवन का सबसे काला दिन था। कोई मुझसे बात नहीं कर रहा था क्योंकि मैं बहुत निराश था। मुझे लगता है कि वह मेरा सबसे बुरा समय था क्योंकि मैं उस समय खुद को पसंद नहीं करता था।

यह पूछे जाने पर कि उनके जैसे सफल होने की इच्छा रखने वाले युवाओं को उनकी क्या सलाह होगी, छेत्री ने कहा, युवा पीढ़ी के लिए, त्वरित संतुष्टि और त्वरित परिणाम की चाहत शायद उन्हें आगे बढ़ने से रोक रही है। खेल में केवल लंबी दौड़ होती है। जल्दी कुछ नहीं। अगर आप जल्दी से शीर्ष पर पहुंच जाते हैं तो इसे बनाए रखना और भी मुश्किल होता है।

वर्तमान में अंक तालिका में दसवें स्थान पर बेंगलुरू एफसी का आईएसएल में अगला मैच 26 नवंबर को गोवा के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में एफसी गोवा के खिलाफ होगा।

--आईएएनएस

आरजे/आरआर

Share this story