यांग च्येछी ने अमेरिकी राष्ट्रपति के राष्ट्रीय सुरक्षा मामलों के प्रभारी सहायक से मुलाकात की

यांग च्येछी ने अमेरिकी राष्ट्रपति के राष्ट्रीय सुरक्षा मामलों के प्रभारी सहायक से मुलाकात की
यांग च्येछी ने अमेरिकी राष्ट्रपति के राष्ट्रीय सुरक्षा मामलों के प्रभारी सहायक से मुलाकात की बीजिंग, 7 अक्टूबर (आईएएनएस)। 6 अक्तूबर को चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय समिति के विदेश मामला कार्यालय के अध्यक्ष यांग च्येछी ने अमेरिकी राष्ट्रपति के राष्ट्रीय सुरक्षा मामलों के प्रभारी सहायक जेक सुलिवन के साथ स्विट्जरलैंड के ज्यूरिख में मुलाकात की। दोनों पक्षों ने चीन-अमेरिका संबंधों और समान चिंता वाले अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय मुद्दों पर व्यापक, खुले और गहन रूप से विचारों का आदान-प्रदान किया। मुलाकात रचनात्मक और आपसी समझ बढ़ाने के लिए लाभदायक रही। दोनों पक्षों ने 10 सितंबर को दो राष्ट्राध्यक्षों के बीच फोन पर हुई बातचीत की भावना को लागू करने, रणनीतिक संपर्क को मजबूत करने, मतभेदों को ठीक से नियंत्रित करने, संघर्ष और टकराव से बचाने, आपसी लाभ और उभय जीत की तलाश करने और चीन-अमेरिका संबंधों को स्वस्थ और स्थिर विकास के सही रास्ते पर वापस लाने पर सहमति जतायी।

यांग च्येछी ने बताया कि क्या चीन और अमेरिका अपने संबंधों को ठीक से संभाल सकते हैं, जो दोनों देशों और दोनों देशों के लोगों के बुनियादी हितों, दुनिया के भविष्य और भाग्य से संबंधित है। चीन और अमेरिका के बीच सहयोग से देशों और दुनिया दोनों को लाभ होगा, जबकि चीन और अमेरिका के बीच टकराव से दोनों देशों और दुनिया को गंभीर नुकसान पहुंचेगा। अमेरिका को दोनों देशों के बीच आपसी लाभ और उभय जीत के संबंधों की असलियत को गहराई से समझना चाहिए, और चीन की घरेलू और विदेशी नीतियों व रणनीति के इरादों को सही ढंग से समझना चाहिए। चीन प्रतिस्पर्धा से चीन-अमेरिका संबंधों को परिभाषित करने का विरोध करता है।

यांग च्येछी ने कहा कि चीन-अमेरिका संबंधों पर राष्ट्रपति जो बाइडेन के हालिया सकारात्मक बयानों को महत्व देता है। उन्होंने कहा कि अमेरिका का चीन के विकास को रोकने का कोई इरादा नहीं है, और वह नया शीत युद्ध छेड़ना नहीं चाहता। यांग ने उम्मीद जतायी कि अमेरिका चीन के प्रति तर्कसंगत और व्यावहारिक नीति अपनाएगा और चीन के साथ एक-दूसरे के मूल हितों व प्रमुख चिंताओं का सम्मान करेगा, आपसी सम्मान, शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व और सहयोग व उभय जीत के रास्ते पर चलेगा।

यांग ने थाइवान, हांगकांग, शिनच्यांग, तिब्बत, सागर और मानवाधिकारों से संबंधित मुद्दों पर चीन का गंभीर रुख स्प्ष्ट किया और अमेरिका से चीन की संप्रभुता, सुरक्षा और विकास के हितों का ठोस रूप से सम्मान कर उपरोक्त मुद्दों के माध्यम से चीन के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करने की मांग की। अमेरिकी पक्ष ने एक-चीन की नीति का पालन करने की बात कही।

दोनों पक्षों ने जलवायु परिवर्तन और समान चिंता वाले क्षेत्रीय मुद्दों पर भी विचार-विमर्श किया और महत्वपूर्ण मुद्दों पर नियमित संवाद और संपर्क बनाए रखने पर सहमति जतायी।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

--आईएएनएस

एएनएम

Share this story