यूक्रेन के परमाणु संयंत्र पर गोलाबारी से चिंता बढ़ी

यूक्रेन के परमाणु संयंत्र पर गोलाबारी से चिंता बढ़ी
यूक्रेन के परमाणु संयंत्र पर गोलाबारी से चिंता बढ़ी कीव, 6 अगस्त (आईएएनएस)। यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोदिमिर जेलेंस्की ने यूक्रेन के जापोरिज्‍जया परमाणु ऊर्जा संयंत्र की गोलाबारी के बाद रूस के परमाणु उद्योग पर प्रतिबंध लगाने का आह्वान किया।

समाचार एजेंसी डीपीए ने शुक्रवार रात अपने दैनिक वीडियो संबोधन में जेलेंस्की के हवाले से रूसी परमाणु ऊर्जा प्राधिकरण रोसाटॉम के खिलाफ दंडात्मक उपाय करने का आह्वान करते हुए कहा, जो कोई भी अन्य लोगों के लिए परमाणु खतरा पैदा करता है, वह निश्चित रूप से परमाणु तकनीक का सुरक्षित उपयोग करने की स्थिति में नहीं है।

कीव और मॉस्को दोनों ने शुक्रवार को एक-दूसरे पर रूस के कब्जे वाले शहर एनरहोदर में यूरोप के सबसे बड़े परमाणु ऊर्जा केंद्र पर गोलीबारी करने का आरोप लगाया।

यूक्रेन ने रूसी सैनिकों पर साइट पर हमला करने का आरोप लगाया, जिसे जेलेंस्की ने आतंकवादी कार्य कहा।

दूसरी ओर, मास्को में रक्षा मंत्रालय ने गोलाबारी के लिए यूक्रेनी सैनिकों को दोषी ठहराया और कहा कि जब संयंत्र में आग बुझा दी गई थी, संयंत्र के रिएक्टरों में से एक को आंशिक रूप से बंद करने के लिए मजबूर किया गया था।

इस सप्ताह की शुरुआत में अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी ने बिजली संयंत्र की सुरक्षा पर चिंता व्यक्त की थी और कहा था कि एक तकनीकी निरीक्षण की तत्काल जरूरत है।

कीव में विदेश मंत्रालय ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से यूक्रेन के अधिकारियों को संयंत्र का नियंत्रण वापस करने के लिए मास्को के साथ काम करने की अपील की और चेतावनी दी कि यदि एक परिचालन रिएक्टर मारा जाता है, तो परिणाम परमाणु बम के उपयोग के बराबर हो सकते हैं।

एनरहोदर के मेयर, दिमित्रो ओरलोव ने शहर के शेष निवासियों को चेतावनी दी कि बिजली संयंत्र की साइट से आवासीय क्षेत्रों को गोलाबारी की जा रही है।

ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने यह भी कहा कि रूसी सेना शुक्रवार को प्रकाशित एक खुफिया अपडेट में पावर स्टेशन पर सुरक्षा और सुरक्षा को खतरे में डाल सकती है।

--आईएएनएस

एसजीके

Share this story