राशिद खान ने अपनी गेंदबाजी से आलोचकों को दिया करारा जवाब

राशिद खान ने अपनी गेंदबाजी से आलोचकों को दिया करारा जवाब
राशिद खान ने अपनी गेंदबाजी से आलोचकों को दिया करारा जवाब पुणे, 11 मई (आईएएनएस)। गुजरात टाइटंस के गेंदबाज राशिद खान ने लखनऊ सुपर ज्वायंट्स के खिलाफ शानदार गेंदबाजी कर आलोचकों को करारा जवाब दिया है। 23 वर्षीय अफगानिस्तान क्रिकेटर पिछले कुछ मैचों में अपनी गेंदबाजी से ज्यादा अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रहे थे, जिसमें क्रिकेट विशेषज्ञों ने कहा था कि खान को अपनी गेंदबाजी में काफी बदलाव करना होगा।

मुंबई इंडियंस के खिलाफ पिछले मैच में स्पिनर ने अपने चार ओवरों में 24 रन देकर दो विकेट झटके थे और मंगलवार को लखनऊ के खिलाफ मैच में चार ओवर में चार विकेट झटके। इन दोनों प्रदर्शनों से खान ने अपने आलोचकों का मुंह बंद कर दिया है।

एलएसजी के खिलाफ जीत के बाद राशिद ने कहा, मुझे लगता है कि उन दो मैचों में मैंने अपनी गेंदबाजी में काफी बदलाव किया था। मैंने सही दिशा और गति के साथ गेंदबाजी की।

विकेट से थोड़ी मदद और मंगलवार को मिले उछाल के साथ राशिद ने खेल का पूरा रुख ही बदलकर रख दिया। टीम को उम्मीद नहीं थी कि वे कम स्कोरिंग वाले मैच में भी जीत हासिल कर सकते हैं, लेकिन राशिद की गेंदबाजी की बदौलत टीम ने ऐसा कर दिखाया।

राशिद ने कहा, क्रीज पर गेंदबाजों को फायदा हो रहा था और उसमें उछाल और टर्न भी था। मुझे सही लेंथ और लंबाई के साथ गेंदबाजी करनी थी, जिस वजह से हमें यहां पिच पर फायदा हुआ।

गुजरात टाइटंस के लिए राशिद की उपयोगिता कभी सवालों के घेरे में नहीं रही। वह शानदार गेंदबाज हैं और कभी-कभी वह अपने बल्ले से भी दमखम दिखाने का प्रयास रखते हैं। गुजरात ने भले ही कुछ मौकों पर मैच को गंवाया है, लेकिन उन्होंने 12 मैचों में 9 में जीत हासिल कर प्लेऑफ में जगह बनाई है।

हालांकि, पिछले कुछ मैचों में राशिद ने गेंद से ज्यादा अच्छा प्रदर्शन नहीं दिखाया था, जिस वजह से लोगों को लगा कि वह अपनी लाइन और लेंथ खो चुके हैं। मंगलवार को लखनऊ के खिलाफ उन्होंने पावरप्ले के ओवरों में तेज गेंदबाजों द्वारा लिए गए तीन विकेट का फायदा उठाया और पॉवरप्ले के बाद मध्य क्रम के बल्लेबाजों पर हावी रहे और एक के बाद एक विकेट झटकते चले गए।

राशिद ने कहा, पावरप्ले में जिस तरह से मोहम्मद शमी, यश दयाल, हार्दिक पांड्या और अल्जारी जोसेफ ने गेंदबाजी की वह वाकई काबिले तारीफ थी।

उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि टीम के लिए 144 रन का बचाव करना मुश्किल था, लेकिन गेंदबाज लखनऊ की टीम पर हावी रहे और उन्हें 82 रन पर ढेर कर दिया।

राशिद ने आगे कहा कि, अभी टीम के पास दो मैच और खेलने के लिए हैं, जिनमें हम कड़ी मेहनत करेंगे और उम्मीद करते हैं कि उनमें भी जीत हासिल की जाए। मैं क्रिकेट खेलने का आनंद ले रहा हूं और मेरी तरफ से पूरी कोशिश रहेगी कि हम टीम में अपनी तरफ से ज्यादा से ज्यादा योगदान दे सकें।

--आईएएनएस

एचएमए/एसकेके

Share this story