रूस ने लिथुआनिया को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी

रूस ने लिथुआनिया को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी
रूस ने लिथुआनिया को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी मॉस्को, 21 जून (आईएएनएस)। रूस के कलिनिनग्राद क्षेत्र में लिथुआनिया के परिवहन नाकाबंदी पर मास्को की जवाबी कार्रवाई से लिथुआनियाई नागरिक गंभीर रूप से प्रभावित होंगे। रूस की सुरक्षा परिषद के प्रमुख निकोले पेत्रुशेव ने यह बात कही।

आरटी के मुताबिक, पेत्रुशेव ने मंगलवार को कलिनिनग्राद की यात्रा के दौरान संवाददाताओं से कहा, बेशक, रूस शत्रुतापूर्ण कार्रवाइयों का जवाब देगा। उचित उपाय किए जा रहे हैं और निकट भविष्य में इसका परिणाम देखा जाएगा।

उन्होंने कहा कि मास्को की प्रतिक्रिया के परिणाम लिथुआनिया के लोगों पर गंभीर नकारात्मक प्रभाव डालेंगे।

कलिनिनग्राद पोलैंड और लिथुआनिया के बीच स्थित एक छोटा रूसी उत्खनन क्षेत्र है। शनिवार को लिथुआनिया के राष्ट्रीय रेलवे ऑपरेटर ने यूरोपीय आयोग के निर्देशों का हवाला देते हुए क्षेत्र और रूस के बाकी हिस्सों के बीच स्वीकृत माल के प्रवाह पर प्रतिबंध लगा दिया।

मॉस्को ने अंतर्राष्ट्रीय कानून के तहत इस कदम को अवैध बताया और लिथुआनियाई राजदूत को तलब किया। मंगलवार को विदेश मंत्रालय ने रूस में यूरोपीय संघ के दूत मार्कस एडरर को तलब किया।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा, हमने मांग की कि कलिनिनग्राद ट्रांजिट के सामान्य कामकाज को तुरंत बहाल किया जाए।

यूरोपीय संघ के सदस्यों सहित कई देशों ने यूक्रेन में रूस के सैन्य अभियान के जवाब में मास्को पर व्यापक प्रतिबंध लगाए, जो फरवरी के अंत में शुरू किया गया था।

यूरोपीय संघ के शीर्ष राजनयिक जोसेप बोरेल ने सोमवार को विनियस का बचाव करते हुए कहा कि यह ब्लॉक के प्रतिबंध तंत्र के अनुसार काम कर रहा है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, लिथुआनिया दोषी नहीं है, यह राष्ट्रीय प्रतिबंधों को लागू नहीं कर रहा है।

--आईएएनएस

एसजीके

Share this story