वांग यी : थाइवान मुद्दे पर अमेरिका का विश्वासघात ही उसकी राष्ट्रीय प्रतिष्ठा को और खराब ही करेगा

वांग यी : थाइवान मुद्दे पर अमेरिका का विश्वासघात ही उसकी राष्ट्रीय प्रतिष्ठा को और खराब ही करेगा
वांग यी : थाइवान मुद्दे पर अमेरिका का विश्वासघात ही उसकी राष्ट्रीय प्रतिष्ठा को और खराब ही करेगा बीजिंग, 2 अगस्त (आईएएनएस)। चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने 2 अगस्त 2022 को शांगहाई सहयोग संगठन के विदेश मंत्रियों के सम्मेलन में भाग लिया और मध्य एशिया का दौरा किया। इसके बाद उन्होंने संवाददाता को साक्षात्कार दिया और थाइवान मुद्दे पर चीन की गंभीर स्थिति को उजागर किया।

वांग यी ने कहा कि एक-चीन सिद्धांत अंतरराष्ट्रीय समुदाय की सार्वभौमिक सहमति, चीन के अन्य देशों के साथ आदान-प्रदान का राजनीतिक आधार, चीन का मूल हित है। अमेरिका के कुछेक लोग थाइवान मुद्दे पर चीन की संप्रभुता को चुनौती दे रहे हैं, एक-चीन नीति को नुकसान पहुंचा रहे हैं, और यहां तक कि जानबूझकर थाइवान जलडमरूमध्य में परेशानी पैदा कर रहे हैं। चीनी लोग इसे कभी स्वीकार नहीं करेंगे और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय ऐसे अकारण उकसावे की निंदा करेगा।

वांग यी ने कहा कि यात्रा के दौरान, सभी देशों के नेताओं ने स्पष्ट रूप से कहा कि वे एक-चीन नीति का ²ढ़ता से पालन करते हैं और वे सभी मानते हैं कि थाइवान चीन का एक अविभाज्य हिस्सा है और वे किसी शक्ति का थाइवान मुद्दे पर चीन के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने का विरोध करते हैं। इससे एक बार फिर स्पष्ट है कि एक चीन का सिद्धांत अंतरराष्ट्रीय समुदाय की सामान्य प्रवृत्ति है।

वांग यी ने जोर देकर कहा कि थाइवान मुद्दे पर अमेरिका का विश्वासघात ही उसकी राष्ट्रीय प्रतिष्ठा को और खराब ही करेगा। अमेरिका के कुछेक राजनीतिज्ञ केवल अपने हितों की परवाह करते हुए खुले तौर पर थाइवान के मुद्दे पर आग से खेलते हैं और 1.4 अरब चीनी लोगों के दुश्मन बन जाते हैं। उनका परिणाम अच्छा नहीं होगा। अमेरिका आज की शांति का सबसे बड़ा विध्वंसक ही है।

(साभार---चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)

--आईएएनएस

एएनएम

Share this story