शतरंज ओलंपियाड : दूसरी वरीयता प्राप्त भारत 1 और 16वीं वरीयता प्राप्त भारत 3 के बीच मुकाबला

शतरंज ओलंपियाड : दूसरी वरीयता प्राप्त भारत 1 और 16वीं वरीयता प्राप्त भारत 3 के बीच मुकाबला
शतरंज ओलंपियाड : दूसरी वरीयता प्राप्त भारत 1 और 16वीं वरीयता प्राप्त भारत 3 के बीच मुकाबला चेन्नई, 4 अगस्त (आईएएनएस)। भारतीय अधिकारियों ने कहा कि यहां ममल्लापुरम में चल रहे 44वें शतरंज ओलंपियाड में शुक्रवार को दो भारतीय टीमों के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिल सकता है।

उन्होंने कहा कि हार/ड्रॉ/जीत का कोई सवाल ही नहीं है और पदक की संभावनाएं बनी होने के कारण प्रत्येक खिलाड़ी कड़ा मुकाबला करने को तैयार हैं।

शुक्रवार को शीर्ष बोर्ड में दूसरी वरीयता प्राप्त भारत 1 और 16वीं वरीयता प्राप्त भारत 3 के बीच मुकाबला होगा।

भारत ने ओलंपियाड में छह टीमों- ओपन और महिला वर्ग में तीन-तीन को मैदान में उतारा है।

भारत 1 और भारत 3 दोनों ने छठे दौर के अंत में 10-10 अंक बनाए हैं।

शतरंज प्रतियोगिताओं में सहमत ड्रॉ/जीत कोई नई बात नहीं है और अतीत में भी ऐसा हुआ है।

एक विचार यह है कि अपने खिलाड़ियों की ताकत को देखते हुए, दूसरी वरीयता प्राप्त भारत 1 टीम के शीर्ष पर रहने और ओलंपियाड पदक के लिए दावेदारी करने की संभावना भारत 3 के ऊपर जाने और पूर्व के खिलाफ ड्रॉ/जीतने के बाद वहां रहने की संभावना से अधिक है।

एक शतरंज टूर्नामेंट गणेश कुमार राजाराम ने आईएएनएस को बताया, भारत 1 को शुक्रवार को मैच जीतना है क्योंकि भारत 3 के साथ अंक को विभाजित करना टाई-ब्रेक के मामले में पदक विजेताओं का फैसला करने के लिए इसके खिलाफ काम करेगा।

उच्च श्रेणी के खिलाड़ी से हारने से भारत के 3 खिलाड़ी पर कोई खास असर नहीं पड़ेगा क्योंकि नुकसान की भरपाई जल्द की जा सकती है।

भारत 3 टीम के सभी सदस्य 2,600 ईएलओ अंक से ऊपर हैं और दुनिया के किसी भी मजबूत खिलाड़ी को हरा सकते हैं। टीम में ऐसे खिलाड़ी भी हैं जो ओलंपियाड में खेल चुके हैं।

ओलंपियाड में भारतीय प्रतिनिधिमंडल के प्रमुख शतरंज ग्रैंडमास्टर (जीएम) प्रवीण थिप्से ने आईएएनएस को बताया, अखिल भारतीय शतरंज महासंघ (एआईसीएफ) का कोई भी अधिकारी अब ऐसा नहीं करेगा। यह 30 साल पहले हुआ होगा जब किसी खिलाड़ी को अपने प्रतिद्वंद्वी को हराने या एक अंक देने के लिए कहा गया होगा, लेकिन पिछले 30 वर्षों के दौरान ऐसा नहीं हुआ है।

उन्होंने यह भी कहा कि मौजूदा पीढ़ी के खिलाड़ी मैच फिक्सिंग के पक्ष में नहीं हैं और वे इसका मुकाबला करेंगे।

भारत 3 टीम के कप्तान जीएम तेजस बाकरे ने आईएएनएस से कहा, भारत 1 टीम के खिलाफ पूरी तरह से लड़ाई होगी। हमारी टीम के सदस्य जीत के लिए लड़ेंगे।

शतरंज के एक अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, भारत 1 की टीम शुक्रवार को 4 में से 2.5 अंक आसानी से जीत सकती है। अधिकतर दोनों टीमें अपने खेल खेलेंगी।

भारत 1 टीम :

ग्रांड मास्टर पेंटाला हरिकृष्ण 2720

ग्रांड मास्टर विदित संतोष गुजराती 2714

ग्रांड मास्टर अर्जुन एरिगैसी 2689

ग्रांड मास्टर एस.एल. नारायणन एस.एल. 2659

ग्रांड मास्टर कृष्णन शशिकिरन 2638

भारत 3 टीम :

ग्रांड मास्टर सूर्य शेखर गांगुली 2608

ग्रांड मास्टर एसपी सेथुरमन 2623

ग्रांड मास्टर अभिजीत गुप्ता 2627

ग्रांड मास्टर मुरली कार्तिकेयन 2613

ग्रांड मास्टर अभिमन्यु पुराणिक 2612

--आईएएनएस

एचएमए/एएनएम

Share this story