शुभमन गिल में पर्याप्त क्षमता : रमीज राजा

शुभमन गिल में पर्याप्त क्षमता : रमीज राजा
शुभमन गिल में पर्याप्त क्षमता : रमीज राजा नई दिल्ली, 22 जनवरी (आईएएनएस)। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के पूर्व अध्यक्ष रमीज राजा ने इस साल वनडे में अपने प्रदर्शन के लिए भारत के सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल की प्रशंसा करते हुए कहा कि उनमें सफल होने की पर्याप्त क्षमता है और यहां तक कि वह अपने सलामी जोड़ीदार भारतीय कप्तान रोहित शर्मा की तरह ही दिखते हैं।

रमीज ने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो में कहा, शुभमन गिल मिनी-रोहित शर्मा की तरह दिखते हैं। उनके पास अतिरिक्त समय है और शानदार बल्लेबाजी करते हैं। उनके पास पर्याप्त क्षमता है। उनमें समय के साथ आक्रामकता भी विकसित होगी। उन्हें कुछ भी बदलने की जरूरत नहीं है। उन्होंने हाल ही में दोहरा शतक बनाया है।

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर राजा ने कहा, रायपुर में न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत के 109 रन के सफल पीछा में गिल 40 रन बनाकर नाबाद थे, जबकि रोहित ने सबसे ज्यादा 51 रन बनाए। भारत के लिए बल्लेबाजी आसान थी क्योंकि उनके पास रोहित शर्मा जैसा शानदार बल्लेबाज है। वह हुक-एंड-पुल शॉट्स के एक अद्भुत खिलाड़ी हैं, इसलिए 108 रन का पीछा करना आसान हो गया।

शनिवार को मोहम्मद शमी की अगुआई में भारत के गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए न्यूजीलैंड को 108 रन पर आलआउट कर मेजबान टीम की एक और सीरीज जीत का आधार तैयार किया। शमी (3/18) और मोहम्मद सिराज ने सीम मूवमेंट से न्यूजीलैंड के शीर्ष और मध्य क्रम को उखाड़ कर 15/5 तक कर दिया।

हालांकि ग्लेन फिलिप्स, माइकल ब्रेसवेल और मिशेल सेंटनर ने कुछ अच्छी पारियां खेलीं, लेकिन वे अपनी टीम को परेशानी से उबारने में असमर्थ रहे और हार्दिक पांड्या, शार्दुल ठाकुर, वाशिंगटन सुंदर और कुलदीप यादव ने दबाव बनाए रखा।

राजा ने कहा, भारत ने न्यूजीलैंड को उनके ही खेल में हराया। यह उनका शानदार गेंदबाजी प्रदर्शन था। उनकी लेंथ बॉलिंग, सीम पोजिशन बहुत अच्छी थी। भारतीय गेंदबाजों के पास बहुत अधिक गति नहीं थी, लेकिन एक स्थान पर गेंदबाजी करने की उनकी क्षमता ने उन्हें सबसे अलग कर दिया।

रमीज ने यह भी बताया कि कैसे भारत घर पर हावी रहा और कहा कि अगर पाकिस्तान एक बेहतर क्रिकेट टीम बनना चाहता है, तो उन्हें अपने पड़ोसियों से सीखने की जरूरत है कि कैसे घर में एक मजबूत ताकत बनते है।

--आईएएनएस

आरजे/आरआर

Share this story