सफलता में एक बड़ी भूमिका निभाने के लिए जेरेमी ने मीराबाई चानू को धन्यवाद दिया

सफलता में एक बड़ी भूमिका निभाने के लिए जेरेमी ने मीराबाई चानू को धन्यवाद दिया
सफलता में एक बड़ी भूमिका निभाने के लिए जेरेमी ने मीराबाई चानू को धन्यवाद दिया बर्मिघम, 31 जुलाई (आईएएनएस)। राष्ट्रमंडल खेल 2022 में पुरुषों का 67 किलोग्राम स्वर्ण पदक जीतने वाले भारतीय वेटलिफ्टर जेरेमी लालरिननुंगा ने कहा है कि यह उनके लिए एक सपने के सच होने जैसा था। साथ ही उन्होंने टोक्यो ओलंपिक की रजत पदक विजेता मीराबाई चानू को प्रेरणा और उनकी सफलता में एक बड़ी भूमिका निभाने के लिए धन्यवाद दिया।

19 वर्षीय ने रविवार को खेल में काफी संघर्ष किया और शानदार प्रदर्शन के साथ 300 किग्रा (स्नैच में 140 और क्लीन एंड जर्क में 160) का कुल भार उठाकर पुरुषों के 67 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीता।

जीत के बाद लालरिननुंगा ने कहा, कुछ समय के लिए मेरा फोन वॉलपेपर राष्ट्रमंडल खेलों का स्वर्ण पदक रहा है। 2018 में युवा ओलंपिक जीतने के बाद अन्य चीजों के कारण मुझे अपना पहला बड़ा पदक जीतने में काफी समय लगा।

भारतीय खिलाड़ी ने अपनी सफलता का श्रेय स्वर्ण पदक विजेता मीराबाई चानू को दिया, जिन्होंने शनिवार को बमिर्ंघम 2022 में महिलाओं का 49 किग्रा स्वर्ण पदक जीता था।

उन्होंने कहा, मीराबाई दीदी (बड़ी बहन) मेरे लिए बहुत बड़ी प्रेरक रही हैं। आयोजन से पहले भी वह मेरे पास आईं और मुझे अच्छा करने के लिए प्रोत्साहित किया।

मुझे मीराबाई दीदी से बहुत कुछ सीखना है। उनकी कार्यशैली शानदार है। मुझे ओलंपिक में जगह बनाने के लिए इसका पालन करना होगा और उम्मीद है कि मैं उसके जैसा पदक जीतूंगा।

जीत के बाद, जेरेमी ने स्वर्ण पदक अपने सबसे बड़े समर्थकों, दादा-दादी को समर्पित किया।

मिजोरम के युवा खिलाड़ी अपने माता-पिता के साथ अपनी जीत का जश्न मनाना चाहते हैं और साथ ही उनके प्यार और समर्थन के लिए सभी की सराहना की।

--आईएएनएस

एचएमए/आरएचए

Share this story