समुद्र में ड्रग तस्करों की गिरफ्तारी के बाद तमिलनाडु की तटीय पुलिस हाई अलर्ट पर

समुद्र में ड्रग तस्करों की गिरफ्तारी के बाद तमिलनाडु की तटीय पुलिस हाई अलर्ट पर
समुद्र में ड्रग तस्करों की गिरफ्तारी के बाद तमिलनाडु की तटीय पुलिस हाई अलर्ट पर चेन्नई, 25 नवंबर (आईएएनएस)। तमिलनाडु की तटीय पुलिस समुद्र में ड्रग तस्करों की गिरफ्तारी के बाद से हाई अलर्ट पर है। रिपोर्ट के अनुसार, सुरक्षाबलों के द्वारा रामेश्वरम के पास समुद्र से 500 ग्राम हशीश का तेल और 300 किलोग्राम गांजा के साथ चार लोगों को गिरफ्तार किया गया। जिसके बाद से भारतीय तट रक्षक और तमिलनाडु तटीय पुलिस हाई अलर्ट पर है।

एनबीसी के अधिकारियों ने भारतीय तटरक्षक बल को सूचना दी कि मछली पकड़ने वाली एक नाव में नशीले पदार्थ ले जाए जा रहे हैं। इसके बाद तटरक्षक बल के जवानों ने नाव को रोका और नशीले पदार्थ के साथ चार लोगों को गिरफ्तार किया।

एनसीबी के सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि गांजा और हशीश का तेल रामनाथपुरम के एक तस्कर द्वारा मछुआरों को सौंपा गया था। जिसे समुद्र के बीच में एक श्रीलंकाई मछली पकड़ने वाली नाव तक पहुंचाने के लिए दिया गया था।

हालांकि, जब मालूम हुआ कि भारतीय मछली पकड़ने वाली नाव को तटरक्षक बलों के द्वारा बीच समुद्र में रोक लिया गया है तो श्रीलंकाई जहाज वापस चला गया। रिपोर्ट के अनुसार, केंद्रीय खुफिया एजेंसियों ने नशीला पदार्थ सौंपने वाले व्यक्ति की तलाश शुरू कर दी।

केंद्रीय एजेंसियों ने सोमवार को रामनाथपुरम तट से चार लोगों की गिरफ्तारी की जांच शुरू कर दी है। साथ ही एजेंसियां जांच कर रही हैं कि क्या ड्रग सिंडिकेट ट्रैक की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए थोड़ी मात्रा में गांजा और हशीश के तेल की तस्करी की जा रही थी। सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि एजेंसियां इस बात की भी जांच कर रही हैं कि क्या प्रतिबंधित ड्रग की खरीद करने वाला कोई बड़ा रैकेट नेटवर्क का इस्तेमाल श्रीलंका में नशीले पदार्थ पहुंचाने के लिए तो नहीं कर रहा है।

गौरतलब हो कि मार्च 2021 में केरल तट से दूर एक श्रीलंकाई नाव से एक जहाज से 300 किलोग्राम हेरोइन और पांच एके-47 असॉल्ट राइफलें जब्त की गई थीं। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने एक जांच की और पाया कि तमिल नागरिक सुरेश राज पाकिस्तान और ईरान से श्रीलंका में ड्रग्स और हथियारों की तस्करी के पीछे का सरगना था।

--आईएएनएस

एफजेड/एएनएम

Share this story