सीडब्ल्यूजी 2022 : सौरव घोषाल ने रचा इतिहास, स्क्वैश में भारत का पहला एकल पदक जीता

सीडब्ल्यूजी 2022 : सौरव घोषाल ने रचा इतिहास, स्क्वैश में भारत का पहला एकल पदक जीता
सीडब्ल्यूजी 2022 : सौरव घोषाल ने रचा इतिहास, स्क्वैश में भारत का पहला एकल पदक जीता बर्मिघम, 3 अगस्त (आईएएनएस)। भारतीय स्क्वैश स्टार सौरव घोषाल ने 2022 राष्ट्रमंडल खेलों में पुरुष एकल में कांस्य पदक जीतकर इतिहास रच दिया। उन्होंने प्लेऑफ मैच में बुधवार को यहां जेम्स विलस्ट्रॉप को 3-0 (11-6, 11-1, 11-4) से हराया।

यह राष्ट्रमंडल खेलों के इतिहास में पुरुष या महिला दोनों वर्ग में भारत का पहला एकल स्क्वैश पदक था।

भारत ने अब राष्ट्रमंडल खेलों में स्क्वैश में केवल चार पदक जीते हैं। दीपिका पल्लीकल और जोशना चिनप्पा ने 2014 में महिला युगल में स्वर्ण और 2018 में एक रजत पदक जीता था। पल्लीकल ने उसी वर्ष घोषाल के साथ मिश्रित युगल में रजत भी जीता था।

35 वर्षीय घोषाल ने शुरूआती गेम में सीडब्ल्यूजी 2018 के स्वर्ण पदक विजेता विलस्ट्रॉप को हरा दिया।

दूसरे गेम में, विलस्ट्रॉप ने गेम में वापस आने के लिए कड़ा मुकाबला किया।

इस बीच, जोशना चिनप्पा/हरिंदर पाल सिंह संधू की जोड़ी ने श्रीलंकाई जोड़ी येहेनी कुरुप्पु/रविन्दु लक्षिरी को 2-1 (8-11, 11-4, 11-3) से हराकर मिक्स्ड डबल्स राउंड 16 में प्रवेश किया। अब उनका सामना ऑस्ट्रेलिया की डोना लोब्बन और कैमरून पिल्ले से होगा।

दूसरी ओर, सुनयना कुरुविला ने गुयाना की मैरी फंग-ए-फैट को 3-0 (11-7, 13-11, 11-2) से हराकर महिला एकल में फाइनल जीता।

सौरव घोषाल गुरुवार को राष्ट्रमंडल खेलों 2022 में स्क्वैश में एक्शन में वापसी करेंगे, मिश्रित युगल में दीपिका पल्लीकल के साथ होंगे जबकि अनाहत सिंह महिला युगल में सुनयना कुरुविला के साथ जोड़ी बनाएंगे।

--आईएएनएस

एचएमए/एएनएम

Share this story