हार को सहना मुश्किल, लेकिन टेनिस में हम जल्द ही सीख जाते हैं : जोकोविच

हार को सहना मुश्किल, लेकिन टेनिस में हम जल्द ही सीख जाते हैं : जोकोविच
हार को सहना मुश्किल, लेकिन टेनिस में हम जल्द ही सीख जाते हैं : जोकोविच न्यूयॉर्क, 13 सितम्बर (आईएएनएस)। यूएस ओपन के फाइनल में रूस के डेनिल मेदवेदेव के हाथों मिली हार के बाद विश्व के नंबर-1 टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच ने कहा है कि इस हार को सहना मुश्किल है लेकिन टेनिस में लोग जल्द ही सीख जाते हैं।

जोकोविच ने इस साल तीन ग्रैंड स्लैम जीते थे और अगर वह यूएस ओपन को जीतने में सफल रहते तो वह 1969 में रोड लावेर के बाद एक ही सीजन में चार ग्रैंड स्लैम हासिल करने वाले पहले व्यक्ति बन जाते।

भावुक जोकोविच ने एटीपीटूर डॉट कॉम से कहा, इस हार को सहन करना मुश्किल है। लेकिन दूसरी तरफ मैंने यहां न्यूयॉर्क में ऐसा महसूस किया जो कभी जीवन में महसूस नहीं किया। दर्शकों ने मुझे विशेष महसूस कराया। यह मेरे लिए आश्चर्यजनक था।

2015 में विंबलडन जीतने के बाद जोकोविच ने अपने पिछले 14 में से 12 ग्रैंड स्लैम फाइनल मुकाबले को जीता है। उन्हें पिछले साल फ्रेंच ओपन में राफेल नडाल और 2016 में फ्लशिंग मिएडोव्स में स्विटजरलैंड के स्टान वावरिंका से हार का सामना करना पड़ा था।

जोकोविच ने कहा, दर्शकों से मुझे जो समर्थन और ऊर्जा और प्यार मिला, वह कुछ ऐसा था जिसे मैं हमेशा याद रखूंगा। यह 21 ग्रैंड स्लैम जीतने जितना मजबूत है। मुझे ऐसा ही लगा, ईमानदारी से कहूं तो मुझे बहुत, बहुत खास लगा।

उन्होंने कहा, मेदवेदेव की मानसिकता को पूरा श्रेय जाता है। वह निश्चित रूप से बेहतर खिलाड़ी हैं और जीत के हकदार थे, इसमें कोई शक नहीं।

जोकोविच ने कहा, बेशक मैं आज पूरे खेल से निराश हूं। मुझे पता है कि मैं बेहतर कर सकता था और करना चाहिए था। लेकिन यह खेल है। कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है। यह एक कठिन हार है, बहुत कठिन हार है। लेकिन साथ ही मैं उनके लिए खुश हूं क्योंकि वह एक अच्छे लड़के हैं और वह इसके हकदार थे।

--आईएएनएस

एसकेबी

Share this story