हैदराबाद में भारी बारिश, निचले इलाकों में भरा पानी

हैदराबाद में भारी बारिश, निचले इलाकों में भरा पानी
हैदराबाद में भारी बारिश, निचले इलाकों में भरा पानी हैदराबाद, 9 अक्टूबर (आईएएनएस)। हैदराबाद में दो सप्ताह से भी कम समय में दूसरी बार भारी बारिश हुई है, जिससे कई रिहायशी इलाके जलमग्न हो गए हैं, साथ ही यातायात और बिजली आपूर्ति बाधित हो गई है।

रात भर हुई भारी बारिश के बाद शनिवार को हैदराबाद और उसके आसपास की दर्जनों कॉलोनियां जलमग्न हो गईं।

दिलसुखनगर इलाके में शिव गंगा सिनेमा थिएटर की दीवार गिरने से कम से कम 50 बाइक क्षतिग्रस्त हो गए। इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ, यह उस समय हुआ, जब लोग पहले शो के बाद थिएटर से बाहर आ रहे थे। बारिश का पानी थिएटर में घुस गया था और जाहिर तौर पर परिसर की दीवार कमजोर हो गई थी।

सरूरनगर, चंपापेट, हयातनगर, चंद्रयानगुट्टा और अन्य क्षेत्रों में बाढ़ का पानी घरों में घुसने से निवासियों की नींद उड़ गई।

सरूरनगर, चंपापेट, मीरपेट, हयातनगर, एलबी नगर, अब्दुल्लापुरमेट, राजेंद्रनगर, चंद्रयानगुट्टा और अन्य क्षेत्रों में दर्जनों कॉलोनियां जलमग्न हो गईं।

प्रभावित कॉलोनियों के लोगों ने शिकायत की कि नगर निगम के अधिकारी जल निकासी व्यवस्था में सुधार के लिए कदम नहीं उठा रहे हैं और उन्हें हर साल समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

भारी बारिश ने यातायात को प्रभावित किया और शहर और बाहरी इलाकों में कई इलाकों में बिजली आपूर्ति बाधित हुई। शहर के बाहरी इलाके अब्दुल्लापुरमेट मंडल के मजीदपुर में पानी में एक बस फंस गई।

सड़कें सेसपूल में बदल गईं, जिससे यातायात बाधित हो गया। कुछ स्थानों पर दोपहिया वाहन बह गए, जबकि कारें आंशिक रूप से जलमग्न हो गईं। कार्यस्थलों से लौट रहे लोगों को जलभराव के कारण परेशानी का सामना करना पड़ा। दो-तीन घंटे तक लोग जाम में फंसे रहे।

एलबी नगर के चिंतालकुंटा में एक खुले नाले में बाढ़ के पानी में अपनी बाइक के साथ बह जाने के बाद 37 वर्षीय एक बाल बाल बच गया था। कुछ लोगों ने रस्सी से उसे बचा लिया।

हैदराबाद-बेंगलुरु राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों की आवाजाही एक बार फिर बुरी तरह प्रभावित हुई, क्योंकि अप्पाचेरुवु झील से पानी बहने से गंगनपहाड़ में सड़क जलमग्न हो गई थी।

साइबराबाद पुलिस ने आउटर रिंग रोड के रास्ते शमशाबाद स्थित हैदराबाद अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे की ओर जाने वाले यातायात को डायवर्ट किया।

हाईवे पर निमार्णाधीन पुल की जगह के पास ट्रक के टूटने से भी जाम लग गया।

राजेंद्रनगर चौराहे के पास पीवीएनआर एक्सप्रेसवे के नीचे भी यातायात ठप हो गया, क्योंकि सड़क पर नाला ओवरफ्लो होने के कारण पानी भर गया था। दो-तीन किलोमीटर लंबे जाम में हजारों वाहन फंस गए।

चैतन्यपुरी से बीबी नगर मार्ग शनिवार को भी पानी में डूबा रहा। सड़क के दोनों ओर कई इलाकों में बीती रात से ही बिजली गुल थी।

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) की आपदा प्रतिक्रिया दल जलमग्न कॉलोनियों से पानी निकालने के लिए संघर्ष कर रहे थे।

जीएचएमसी ने बारिश से संबंधित किसी भी मुद्दे और सहायता के लिए नागरिकों से संपर्क करने के लिए फोन नंबर - 040-21111111, 040-29555500 कंट्रोल रूम बनाए हैं।

शहर के बाहरी इलाके महेश्वरम में अधिकतम 14 सेंटीमीटर बारिश हुई। सरूरनगर के लिंगोजीगुडा में 13 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई, इसके बाद कुरमागुडा, सैदाबाद (12 सेंटीमीटर) और एलबी नगर (11.2 सेंटीमीटर) में बारिश हुई।

मौसम विभाग ने शनिवार को और बारिश की संभावना जताई है। जीएचएमसी ने नागरिकों को अलर्ट किया है। जीएचएमसी के आपदा प्रबंधन निदेशक ने कहा, मध्यम से भारी वर्षा होने का अनुमान है। नागरिकों से अनुरोध है कि वे उस हिसाब से अपने आवागमन की योजना बनाएं। डीआरएफ टीमों को सतर्क कर दिया गया है।

--आईएएनएस

एचके/एएनएम

Share this story