Top
Aap Ki Khabar

Share Market में listing ,DR को IFSCA ने बनाया Easy ,

Share Market में listing ,DR को IFSCA ने बनाया Easy ,
X

Share listing 

Bussinews Desk -द इंटरनेशनल फाइनेंशियल सर्विसेज सेंटर्स अथॉरिटी(The International Financial Services Centeres Authority ) ने गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस टेक-सिटी इंटरनेशनल फाइनेंशियल सर्विसेज सेंटर (जीआईएफटी आईएफएससी) में डिपॉजिटरी प्राप्तियों (डीआर) की लिस्टिंग (सूचीबद्ध) करने के नियमों को जारी कर दिया है। इसका उद्देश्य जीआईएफटी आईएफएससी में वित्तीय उत्पादों और सेवाओं को ज्यादा प्रोत्साहित करना है।

फ्रेमवर्क (नियम) आने के बाद एफएटीएफ के दायरे में आने वाली लिस्टेड (सूचीबद्ध) कंपनियों के लिए डिपॉजिटरी प्राप्तियां लाना आसान हो जाएगा। कंपनियां जीआईएफटी आईएफएससी के स्टॉक एक्सचेंज में डिपॉजिटरी प्रॉप्तियों को जहां सूचीबद्ध करा सकेंगी, वहीं बाजार से पूंजी भी जुटा सकेंगी।

फ्रेमवर्क के अनुसार इसके अतिरिक्त, एफएटीएफ के दायरे में सूचीबद्ध कंपनियों को किसी भी एक्सचेंज में अपनी डिपॉजिटरी प्राप्तियों को लिस्ट करने के साथ-साथ उनकी स्टॉक एक्सचेंज पर ट्रेडिंग का भी मौका मिलेगा। कंपनियों को ऐसा करने के लिए, अलग से कोई पब्लिक ऑफर नहीं लाना होगा। इसका फायदा यह होगा कि कंपनियों के लिए ट्रेंडिंग का एक अतिरिक्त जरिया खड़ा हो जाएगा।

इसके अलावा आईएफएससीए ने कंपनियों के लिए डिसक्लोजर फ्रेमवर्क भी जारी किया है। जिसमें कंपनियों को फाइनेंशियल स्टेटमेंट, उत्पाद या कीमत जैसे संवेदनशील जानकारी, शेयरहोल्डिंग पैटर्न, डिपॉजिटरी में बदलाव और कॉरपोरेट बदलाव की जानकारी उसी तरह देनी होगी, जैसे कोई सूचीबद्ध कंपनी अपने क्षेत्र में कॉरपोरेट गवर्नेंस और दूसरे डिसक्लोजर जरूरतों को पूरा करती है। इसके लिए कंपनियों को अलग से कोई नियामकीय जरूरतों को पूरा नहीं करना होगा। हालांकि सूचीबद्ध कंपनियों को अपने गृह क्षेत्र के दायरे में आने वाले सभी डिसक्लोजर की जानकारी जीआईएफटी आईएफएससी को देनी होगी।

डिपॉजिटरी प्रॉप्तियों को आईएफएसी स्टॉक एक्सचेंज में सूचीब्द्ध कराने से संबंधित विस्तृत फ्रेमवर्क आईएफएससीए की वेबसाइट पर उपलब्ध है


Next Story
Share it