Top
Aap Ki Khabar

Republic day 26 january गणतंत्र दिवस के अलावा क्या है खास इस दिन ?

26 जनवरी 1930 को . भारत में पहली बार स्वराज दिवस मनाया गया .भारत का गणतन्त्र दिवस

Republic day
X

26 january republic day file pic image source google 

Republic day news(जी केश्रीवास्तव)देश में हर साल 26 जनवरी को मनाया जाता है।अंग्रेज सरकार, भारत को एक स्वतंत्र उपनिवेश बनाना ही नहीं चाहती थी, तभी 26 जनवरी 1929 के लाहौर अधिवेशन में जवाहरलाल नेहरु जी की अध्यक्षता में कांग्रेस ने पूर्णस्वराज्य की शपथ ली थी।जिसमे ये प्रस्ताव रखा गया था की अंग्रेज सरकार को एक साल के अन्दर यानी 26 जनवरी 1930 तक भारत को डोमिनियन का दर्जा देना होगा और यदि ऐसा नही हुआ तो हम पूर्ण स्वराज की मांग करेंगे और चाहे खून ही क्यों न बहाना पड़े।

देश मे संविधान कब लागू हुआ

26 जनवरी 1950 को हमारे देश में संविधान लागू हुआ, जिसके उपलक्ष्य में हम 26 जनवरी (26january) को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं। एक स्वतंत्र गणराज्य बनने के लिए भारतीय संविधान सभा द्वारा 26 नवंबर 1949 को संविधान अपनाया गया था, लेकिन इसे लागू 26 जनवरी 1950 में किया गया था।. हमारा संविधान विश्‍व का सबसे बड़ा संविधान माना जाता है. और संविधान को बनाने वाली संविधान सभा में भीमराव अंबेडकर थे, जबकि जवाहरलाल नेहरू, डॉ राजेन्द्र प्रसाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, मौलाना अबुल कलाम आजाद आदि इस सभा के प्रमुख सदस्य थे।

26 जनवरी की प्रमुख घटनाएं-

1930- भारत में पहली बार स्वराज दिवस मनाया गया।

1931- सविनय अवज्ञा आंदोलन के दौरान ब्रिटिश सरकार से बातचीत के लिए महात्मा गांधी रिहा किये गए।

वर्ष 1937 में गठित भारतीय संघीय न्यायालय का नाम सर्वोच्च न्यायालय कर दिया गया

भारत का युद्ध पोत एचएमआईएस दिल्ली आईएनएस दिल्ली के रूप में बदल दिया गया।

1950-भारत एक संप्रभु लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित हुआ और भारत का संविधान लागू हुआ।

स्वतंत्र भारत के पहले और अंतिम गवर्नर जनरल चक्रवर्ति राजगोपालाचारी ने अपने पद से त्यागपत्र दिया और डा. राजेंद्र प्रसाद देश के पहले राष्ट्रपति बने।

उत्तर प्रदेश के सारनाथ स्थित अशोक स्तंभ के शेरों को राष्ट्रीय प्रतीक की मान्यता मिली।

1972- युध्द में शहीद सैनिकों की याद में दिल्ली के इंडिया गेट पर अमर जवान ज्योति स्थापित।

1981- पूर्वोत्तर भारत में हवाई यातायात सुगम बनाने को ध्यान में रखते हुए हवाई सेवा ..वायुदूत.. शुरू।

1982- पर्यटकों को विलासितापूर्ण रेल यात्रा का आनंद दिलाने के लिए भारतीय रेल ने ..पैलेस आन व्हील्स सेवा शुरू की।

2001- गुजरात के भुज में 7.7 तीव्रता का भीषण भूकंप। इस भूकंप में लाखों लोग मारे गए थे।

26 जनवरी की प्रमुख बातें-

1. देश में राजपथ पर गणतंत्र दिवस की परेड (Repulic day pared) आयोजित होती है. यह परेड आठ किमी की होती है और इसकी शुरुआत रायसीना हिल से होती है. उसके बाद राजपथ, इंडिया गेट से होते हुए ये लाल किला पर समाप्‍त होती है।

2. 26 जनवरी, 1950 को पहली गणतंत्र दिवस परेड राजपथ के बजाय तत्‍कालीन इर्विन स्‍टेडियम (अब नेशनल स्‍टेडियम) में हुई थी. उस वक्‍त इर्विन स्‍टेडियम के चारों तरफ चारदीवारी नहीं थी और उसके पीछे लाल किला साफ नजर आता था।

3. 26 जनवरी 1950 को सुबह 10.18 मिनट पर भारत का संविधान लागू किया गया।

4. पूर्ण स्वराज दिवस (26 जनवरी 1930) को ध्यान में रखते हुए भारतीय संविधान 26 जनवरी को लागू किया गया था।

5. राष्ट्रगान के दौरान 21 तोपों की सलामी दी जाती है. 21 तोपों की ये सलामी राष्ट्रगान की शुरूआत से शुरू होती है और 52 सेकेंड के राष्ट्रगान के खत्म होने के साथ पूरी हो जाती है।


26 जनवरी को ही गणतंत्र दिवस क्यों मनाते हैं ।

देश में हर साल गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को मनाया जाता है। आखिर 26 जनवरी को ही गणतंत्र दिवस भारत में राष्ट्रीय पर्व क्यों मनाया जाता है ?अंग्रेज सरकार, भारत को एक स्वतंत्र उपनिवेश बनाना ही नहीं चाहते थे, तभी 26 जनवरी 1929 के लाहौर अधिवेशन में जवाहरलाल नेहरु जी की अध्यक्षता में कांग्रेस ने पूर्णस्वराज्य का शपथ लिया गया।जिसमे ये प्रस्ताव रखा गया था की अंग्रेज सरकार को एक वर्ष में 26 जनवरी 1930 तक भारत को डोमिनियन का दर्जा देना होगा और यदि ऐसा नही हुआ तो हम पूर्ण स्वराज की मांग का राष्ट्रव्यापी आंदोलन करेंगे और चाहे खून ही क्यों न बहाना पड़े।

क्रांति वीरों के अथक प्रयास व बलिदानों के कारण हमारा देश भारत 15 अगस्त 1947 को आजाद तो हो गया लेकिन पूर्ण गणतंत्र नहीं बन सका इसके लिए भारतीय संविधान की आवश्यकता थी। हमारे देश में भारतीय संविधान निर्मात्री सभा का गठन किया गया और जब संविधान बनकर तैयार हुआ तो उसे 26 जनवरी 1950 को हमारे देश में संविधान लागू किया गया जिसके उपलक्ष्य में हम 26 जनवरी (26january) को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं। एक स्वतंत्र गणराज्य बनने के लिए भारतीय संविधान सभा द्वारा 26 नवंबर 1949 को संविधान अपनाया गया था, लेकिन इसे लागू 26 जनवरी 1950 में किया गया था।.

26 जनवरी की प्रमुख घटनाएं-

1930- भारत में पहली बार स्वराज दिवस मनाया गया।

1931- सविनय अवज्ञा आंदोलन के दौरान ब्रिटिश सरकार से बातचीत के लिए महात्मा गांधी रिहा किये गए।

1937 -में गठित भारतीय संघीय न्यायालय का नाम सर्वोच्च न्यायालय कर दिया गया।

भारत का युद्ध पोत एचएमआईएस दिल्ली आईएनएस दिल्ली के रूप में बदल दिया गया।

1950-भारत एक संप्रभु लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित हुआ और भारत का संविधान लागू हुआ।

स्वतंत्र भारत के पहले और अंतिम गवर्नर जनरल चक्रवर्ति राजगोपालाचारी ने अपने पद से त्यागपत्र दिया और डा. राजेंद्र प्रसाद देश के पहले राष्ट्रपति बने।

उत्तर प्रदेश के सारनाथ स्थित अशोक स्तंभ के शेरों को राष्ट्रीय प्रतीक की मान्यता मिली।

1972- युध्द में शहीद सैनिकों की याद में दिल्ली के इंडिया गेट पर अमर जवान ज्योति स्थापित किया गया।

1981- पूर्वोत्तर भारत में हवाई यातायात सुगम बनाने को ध्यान में रखते हुए हवाई सेवा .शुरू किया गया।

1982- पर्यटकों को विलासितापूर्ण रेल यात्रा का आनंद दिलाने के लिए भारतीय रेल ने ..पैलेस आन व्हील्स सेवा शुरू किया।

2001- गुजरात के भुज में 7.7 तीव्रता का भीषण भूकंप। इस भूकंप में लाखों लोग मारे गए थे।


Next Story
Share it