देश की आजादी के शुरूआती साल बेहद कठिन और चुनौतियों से भरे थे- पी.एल. पुनिया

The initial years of the country's independence were very difficult and full of challenges - P.L. Punia
लखनऊ। भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू एवं भारत के प्रथम कानून एवं विधि मंत्री बाबा साहब डॉ0  भीमराव अम्बेड़कर जी के नेतृत्व में संविधान को लागू किया गया। देश में संसदीय लोकतंत्र, धर्म निरपेक्षता, विज्ञान एवं टैक्नोलॉजी को आगे बढ़ाया गया। इस दौर में जनता ने स्वतंत्र एवं भय मुक्त मतदान करना सीखा। कांग्रेस ने बहुजन समाज के लोगों को देश की मुख्यधारा में लाने का निरंतर प्रयास जारी रखा। उक्त बातें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व सांसद  पी.एल. पुनिया ने प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पर आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान पत्रकार बन्धुओं के समक्ष कहीं।
 

पूर्व सांसद पी.एल. पुनिया ने कहा कि ऐसी विकराल स्थिति में भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पं0 जवाहर लाल नेहरू एवं भारत के प्रथम कानून एवं विधि मंत्री बाबा साहब डॉ0 भीमराव अम्बेड़कर जी के समता, समानता, भाईचारा, करूणा, मैत्री एवं न्याय पर आधारित राष्ट्रनिर्माण के संकल्प/सपनों का क्या होगा?

उन्होंने कहा कि ऐसे में बहुजन समाज को भय मुक्त कर मुख्य धारा से जोड़ने हेतु श्री राहुल गांधी जी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा एक उम्मीद की किरण बनकर आई है। श्री पुनिया ने कहा कि देश में न्यायपालिका, स्वतंत्र प्रेस, चुनाव आयोग, आदि आदि नियम आधारित संस्थाओं के माध्यम से स्वायत शासन व्यवस्था का निर्माण किया गया।

पूर्व सांसद  पी.एल. पुनिया ने कहा कि कांग्रेस पार्टी सदैव से ही अनु0 जाति/जनजाति के अधिकारों के हमेशा से ही आगे बढ़कर संघर्ष करती आई है। कांग्रेस सरकार ने आजादी से लेकर वर्ष 2013 तक बहुजन समाज के लिए अनेकों महत्वपूर्ण कार्य किये जिनमें से मुख्यतः निम्न प्रकार हैं।

1. बाबा साहब का संविधान सभा की समिति के अध्यक्ष के रूप में मनोनीत किया जाना।
2. डॉ0 अम्बेड़कर को भारत का प्रथम कानून एवं न्याय मंत्री बनाया जाना।
3. समानता का अधिकार
4. आरक्षण ( शिक्षा का आरक्षण, रोजगार का आरक्षण, राजनीतिक आरक्षण )
5. जमींदारी उन्मूलन कानून
6. पंचायत का अधिकार
7. सहकारिता को प्रोत्साहन
8. अनूसूचित जाति/जनजाति के भूमिहीन लोगों को जमीन के पट्टों का आवंटन
9. अनुसूचित जाति/जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम
10. बंधुआ मजदूरी उन्मूलन अधिनियम
11. इंदिरा आवास योजना
12. दलित छात्रावास
13. अनु0 जाति/जनजाति के छात्रों को विदेश में शिक्षा ग्रहण करने हेतु राजीव गांधी नेशनल फेलोशिप
14. मिड डे मील
15. शिक्षा का अधिकार
16. मनरेगा
17. अनूसूचित जाति/जनजाति के छात्रों की पढ़ाई के लिए छात्रवृत्ति की व्यवस्था।

अंत में पूर्व सांसद  पी0एल0 पुनिया ने कहा कि आज बहुजन समाज के लोगों की यह नैतिक जिम्मेदारी है कि पं0 जवाहर लाल नेहरू एवं बाबा साहब डॉ0 भीमराव अम्बेड़कर जी के सपनों के भारत को मजबूत बनाने के लिए एवं भारत के संविधान को बचाने हेतु और अपने समाज की अगली आने वाली पीढ़ी को लोगों को गुलाम होने से बचाने हेतु कांग्रेस पार्टी मजबूत करे और सफल बनाये। आज के परिपेक्ष्य में श्री मल्लिकार्जुन खरगे जी व श्री राहुल गांधी जी के नेतृत्व से ही राष्ट्र में समता, समानता, भाईचारा, करूणा मैत्री एवं न्याय की पुर्नस्थापना हो पायेगी। जिससे देश में अनु जाति/जनजाति एवं पिछड़ा वर्ग के लोगों का भविष्य खुशहाल हो पायेगा।

प्रेसवार्ता में मुख्य रूप से प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष दिनेश कुमार सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष सुशील पासी, मीडिया विभाग के चेयरमैन पूर्व मंत्री डॉ0 सी0पी0 राय, शिव भगवान, बी0एल0 दोहरे, भुवनेश भूषण, राजेश शंखवाल, पुष्पांकर देव,  पूनम कुमारी, कमलेश गौतम, दूधनाथ, डॉ0 महादेव, अखिलेश गौतम, पीयूष गौतम, महेश सिंह, चन्द्र प्रकाश, डॉ0 विनोद कुमार शास्त्री, राजेश गौतम, शैलेन्द्र रावत आदि मौजूद रहे।

Share this story