एक्जिमा क्या है और इसके लक्षण क्या है? | What Is Eczema In Hindi | Type Of Eczema 

What is eczema

What Is Eczema Caused By?

Skin Disease In Hindi

एक्जिमा बीमारी होने के क्या कारण हैं। 

Health News In Hindi: त्वचा में दाने, रेडनेस, बहुत ज्यादा खुजली, त्वचा फटने के साथ उसमें सूजन होती है जोकि कई बार बहुत खराब स्थिति में पहुंच जाती है, इस प्रकार की स्किन की समस्याओं का मुख्य कारण एक्जिमा हो सकता है। एक्जिमा एक प्रकार की स्किन डिजीज है। यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें आपकी स्किन बैरियर्स के फंक्शन कमजोर हो जाते हैं यानी जो फंक्शन आपकी त्वचा में नमी बनाए रखने और त्वचा को बाहरी तत्वों से प्रोटेक्ट करने का कार्य करते हैं वो कमजोर होने के कारण आपको एक्जिमा की समस्या होती है। इस बिमारी में आपकी त्वचा ड्राई, इची और बम्पी हो जाती है। कुछ लोगों में समस्या इतनी बढ़ जाती है कि तेज खुजली के कारण खून तक आ जाता है। एक्जिमा मुख्यतः सात प्रकार का होता है। आइये जानते हैं क्या हैं एक्जिमा के सात प्रकार-

 

  1. एटॉपिक डर्मेटाइटिस (Atopic dermatitis): इसमें स्किन रूखी हो जाती हैं और उसमें खुजली होने लगती है। इस प्रकार की स्किन डिज़ीज अधिकतर बेबीज में देखने को मिलती है। 
  2. कान्‍टेक्‍ट डर्मेटाइटिस (Contact dermatitis): यदि किसी चीज को छूने से आपको स्किन में जलन, खुजली या पपड़ी पड़ने की समस्या होती है तो ये कान्‍टेक्‍ट डर्मेटाइटिस हो सकता है। 
  3. डिसहाइड्रियॉटिक एक्जिमा (Dyshidrotic eczema): इसमें तलवे और हथेलियों में छोटे-छोटे दाने निकल आते हैं। इन दानों में पानी रहता है जिसके फूटने पर जलन भी होने लगती है।
  4. हैंड एक्जिमा (Hand eczema): यह केवल हाथों को प्रभावित करता है और ये उन लोगों को अधिक होता है जो कैमिकल के संपर्क में ज्यादा रहते हैं। इसमें हाथों में जलन होना, लाल होना और खुजली आदि होता है। 
  5. न्यूरोडर्मोटाइटिस (neurodermatitis): इसमें गर्दन, कमर, हाथ, पैर और प्राइवेट पार्ट में रेडनेस और पपड़ी के साथ में दाग-धब्बे देखने को मिल सकते हैं जिनमें बेहद खुजली के साथ जलन महसूस होती है। 
  6. न्यूमुलर एक्जिमा (Nummular Eczema): इसमें कॉइन की शेप में स्‍पॉट coin-shaped spots बन जाते हैं यानी सिक्के के अकार वाले दाने होते हैं जिसमें अत्यधिक खुजली होती है। 
  7. स्टैटिस डर्मेटाइटिस (Stasis dermatitis): इसमें त्वचा की कमजोर नसों से द्रव बाहर निकलने लगता है। साथ ही सूजन, लालिमा, खुजली और दर्द होता है। इसके होने पर पैर के निचले हिस्‍से में सूजन आ सकती है, खासकर जब आप चलते हैं तब यह समस्‍या हो सकती है। 

एटॉपिक डर्मेटाइटिस

एक्जिमा के क्या कारण है ?

  • ​​​​​एक्जिमा का बड़ा कारण स्किन अलर्जी है यानी कुछ ऐसी वस्तुएं जो जब आपके स्किन के संपर्क में आती है तो उसके रिएक्शन के रूप में स्किन समस्याएं होने लगती हैं। जिसमें कैमिकल वाली वस्तुएं जैसे साबुन, डिटर्जेंट, कपडे या बर्तन धोने वाले कैमिकल आदि एक्जिमा को ट्रिगर करने का काम करते हैं। 
  • कुछ एनवायरमेंटल फैक्टर भी होते हैं जैसे कि शुष्क मौसम या ठंड जो स्किन से नमी को हटाते हैं और ये खाफी रूखी हो जाती है जोकि एक्जिमा को ट्रिगर करने का काम करती है। 
  • कई बार खाने की कुछ चीज़ों से अलर्जी होना भी इसका कारण बनती है। कुछ लोगों को मूंगफली, अंडा आदि खाने वाली ऐसी चीजें होती हैं जिनसे एलर्जी हो तो ये आपकी स्किन पर रिएक्शन के रूप में दिख सकता है। 
  • ऊनी या सिंथेटिक कपडे से अलर्जी भी बिमारी को ट्रिगर कर सकती है। 
  • हार्मोनल बदलाव खासकर महिलाओं में प्रेगनेंसी या पीरियड आदि के दौरान भी जिन्हे स्किन सेंस्टिविटी होती है उन्हें एक्जिमा की समस्या हो सकती है।
  • स्किन केयर प्रोडक्ट: जब स्किन सेंसिटिव होती है तो स्किन केयर प्रोडक्ट में पड़ने वाले इंग्रीडिएंट जिसमे कई तरीके के कैमिकल का इस्तेमाल होता है जो स्किन पर रिएक्ट कर सकते हैं और खुजली, दाने, बम्पी स्किन, रेडनेस के रूप में सामने आ सकते हैं और एक्जिमा को ट्रिगर कर सकते हैं। 
  • मानसिक तनाव का असर हमारे दिमाग के साथ शरीर पर भी पड़ता है। ज्यादा और लगातार तनाव भी स्किन प्रॉब्लम्स को बढ़ाता है। 
  • अगर फैमिली में यानी परिवार में माता-पिता या अन्य करीबी रिश्तेदार को एक्जिमा या डर्मेटाइटिस की शिकायत रह चुकी है तो यह समस्या जेनेटिकली ट्रांसफर भी हो सकती है। 

एक्जिमा के क्या कारण है ?

एक्जिमा के क्या लक्षण हैं?

  • सूखी फटी त्वचा जिसमें लगातार खुजली होती रहती हो। 
  • छोटे उभरे हुए दाने और उनमें पानी आना। 
  • स्किन में जहां पर समस्या है वहां बहुत अधिक खुजली होना।
  • स्किन छूने से मोटी महसूस होना। 
  • खुजली करने पर त्वचा का आसानी से निकल जाना या खून आ जाना।
  • दानों के कारण स्किन पर सूजन होना। 
  • साबुन आदि कैमिकल से स्किन पर रेडनेस होना और खुजली होना। 

एक्जिमा के क्या लक्षण हैं?

एक्जिमा से बचने के उपाए। 

यदि आपको एक्जिमा की समस्या है तो मॉइश्चराइजर इस्तेमाल करते समय उसके इंग्रीडिएंट पर ध्यान दें कि कई वो आपकी स्किन के लिए हानिकारक तो नहीं हैं। जिस क्रीम में सेरामाइड्स इंग्रीडिएंट होता है वो एक्जिमा के लिए अच्छा कहा जाता है। कोशिश करें कि नेचुरल चीजें जैसे नारियल का तेल, सूरजमुखी के बीज का तेल आदि इस्तेमाल करें और त्वचा में नमी बनाये रखें। आपको किन-किन चीजों से अलर्जी है जिससे आपका एक्जिमा ट्रिगर होता है उसकी पहचान करें और रोजमर्रा के जीवन में इस बात का ध्यान दें कि उससे बच कर रहें। लेकिन स्किन पर इस प्रकार की एलर्जी दिखने पर डॉक्टर से संपर्क करें। 

Share this story