Top
Aap Ki Khabar

Shani Ke Upay: शनिवार को करें ये खास उपाय, मिलेगी सभी दोषों मुक्ति

शनि दोषों के निवारण (Shani Dosh Nivaran) के लिए शनि मंत्र (Shani Mantra) भी प्रभावशाली माना गया है।

Shani Ke Upay: शनिवार को करें ये खास उपाय, मिलेगी सभी दोषों मुक्ति
X

(शनि अमावस्या 2021) शनि दोष (Shani Dosh) को दूर करने के लिए लोग कई तरह के उपाय और टोटके (shani ke totke) का सहारा लेते हैं, परंतु कई बार ये उपाय प्रभावी नहीं होते हैं। जिस कारण जातक को जीवन में कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। कहते हैं कि शनि (Shani) जब क्रूर दृष्टि रखते हैं तो जातक को नौकरी, व्यापार आदि में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। यही कारण है कि शनिदेव (Shanidev) का नाम सुनते ही भय लगने लगता कि आगे क्या होगा? आज हम शनि शनि दोष के कुछ खास उपाय ( Shani dosh ke upay) के बारे में जानते हैं।

शानिदेव (Shanidev) की कृपा पाने के लिए सबसे पहले जातक को अपने गुरू, माता-पिता, अभिभावक और बड़ों का सम्मान और सदैव सेवा करनी चाहिए। कुछ लोग अपने माता-पिता से दूर रहते हैं तो ऐसे में उन्हें मन ही मन अपने इष्टदेव, गुरू और माता-पिता को प्रणाम करना चहिए। ऐसा करने से शनि की कृपा (Shani ki Kripa) बनी रहती है।

ज्योतिष शास्त्र (Jyotish Shastra) के जानकार बताते हैं कि जिन पर शनि की साढ़ेसाती (Shani ki Sadhesati) या ढैय्या ( Shani ki Dhaiya) चल रही हो उन्हें शानिवार के दिन पूरे भक्ति भाव से शमी (Shami) के पेड़ की पूजा करनी चाहिए। साथ ही शनिवार (Shanivar) के दिन शमी के पेड़ (Shami ka ped) की जड़ को काले कपडे में बांधकर दाहिने हाथ में बांधना चाहिए। साथ ही साथ शनि मंत्र (Shani Mantra) "ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनिश्चराय नम:" इस मंत्र का कम से काम 108 बार जाप करना चहिए।

शनिदेव (Shanidev) की विशेष कृपा पाने और शनि दोष (Shani Dosh) को दूर करने के लिए शिव की पूजा (Shiv ki Pooja) भी श्रेष्ठ मानी गई है। इसलिए जातक को चाहिए कि शनिवार के दिन भागवान शिव (LOrd Shiva) की पूजा करें। मान्यता है कि पूरे विधि-विधान से शिव के पंचाक्षरी मंत्र (Shiv Panchkshari Mantra) या शिव सहस्त्रनाम (Shiv Sahastrnam) का पाठ करना चाहिए। ऐसा करने से शनि से जुड़े सभी प्रकार के दोषों का अंत हो जाता है।

कुंडली के शनि दोष (Kundali ke Shani Dosh) को दूर करने के लिए शनिवार (Saturday) के दिन हनुमान जी (Hanuman) की पूजा भी अक अच्छा उपाय है। शनिवार के दिन हनुमान जी की पूजा में हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) और बजरंग बाण (Bajrang Baan) का पाठ को अवश्य शामिल करना चाहिए। इसके अलावा सुन्दरकाण्ड (Sundarkand) का पाठ करने से शनि के संपूर्ण दोषों का अंत होता है और जीवन में खुशहाली आती है।

शनि दोषों के निवारण (Shani Dosh Nivaran) के लिए शनि मंत्र (Shani Mantra) भी प्रभावशाली माना गया है। शनिदेव के इस मंत्र (Shanidev ke Mantra) का श्रद्धापूर्वक जाप करने से अनेक प्रकार के लाभ होते हैं। मंत्र है- "सूर्य पुत्रो दीर्घ देहो विशालाक्ष: शिव प्रिय:। मंदाचाराह प्रसन्नात्मा पीड़ां दहतु में शनि:"। इसके अलावा घर में शमी का पौधा लगाएं और नियमित रूप से इसकी पूजा करें। अगर रोज न कर पाएं तो कम से कम शनिवार के दिन अवश्य करें। साथ ही साथ शनि स्तोत्र (Shani Stotra) का पाठ भी करें।

Next Story
Share it