How to protect skin from side effects of pollution: पॉल्यूशन के साइड इफेक्ट्स से स्किन की कैसे करें प्रोटेक्शन, जानिए ईजी टिप्स 

How to protect your skin from the side effects of pollution
skin cancer types
skin cancer symptoms
skin cancer treatment
How to protect your skin from the side effects of pollution
How to protect your skin from the side effects of pollution
skin cancer types
skin cancer symptoms
skin cancer treatment

How to protect your skin from the side effects of pollution In Hindi : लाइफ स्टाइल डेस्क, नई दिल्ली। प्रदूषण के संपर्क में आते ही स्किन नमी खोने लगती है, जिससे स्किन बेजान लगने लगती है। साथ ही स्किन सेल्स में घटने वाली कोलेजन की मात्रा से चेहरे पर पिगमेंटेशन का खतरा भी बढ़ता है। धूप और पॉल्यूशन से त्वचा की रंगत टैन होने लगती है और ड्रायनेस बढ़ने लगती है। इससे चेहरे और गर्दन की स्किन डार्क होने लगती है। बिना किसी प्रोटेक्शन के धूप और प्रदूषक तत्वों के संपर्क में आने से त्वचा में मेलानिन का प्रभाव बढ़ने लगता है और चेहरे पर फाइन लाइंस बनने लगती हैं। पर्यावरण में फैली गंदगी के संपर्क में आते ही स्किन पोर्स धूल, प्रदूषक तत्वों और ऑयल से भर जाते हैं। इससे चेहरे पर पिंपल्स होने की समस्या होने लगती है। 

बचने के उपाय 
स्किन को प्रदूषण के दुष्प्रभावों से बचाने के लिए आप यहां बताए जा रहे उपाय आजमा सकती हैं।

स्किन को करें एक्सफोलिएट
घर से बाहर निकलते ही प्रदूषण, स्किन की ऊपरी लेयर को अपनी चपेट में ले लेता है। इससे चेहरे पर संक्रमण और एक्स्ट्रा ऑयल जमा होने लगता है जो एक्ने, ब्लैक और व्हाइट हेड्स का कारण बनते हैं। ऐसे में स्किन को नियमित रूप से एक्सफोलिएट करने से बहुत फायदा मिलता है। ऐसा करने से आपकी स्किन पर मौजूद डेड सेल्स को हटाने में मदद मिलती है और स्किन पर मौजूद प्रदूषण के कण साफ होते हैं। 

रेग्युलर करें क्लींजिंग
स्किन को नियमित रूप से साफ रखने से प्रदूषण के साइड इफेक्ट्स से बचा जा सकता है। इसके लिए माइल्ड फेसवॉश से चेहरे पर 15 से 20 मिनट तक मसाज करें और फिर चेहरे को धो दें। इससे फेस स्किन की डीप क्लींजिंग होगी। साथ ही त्वचा में मौजूद डस्ट पार्टिकल भी हटेंगे। इसके अलावा रुटीन से दिन में दो बार चेहरे को वॉश जरूर करें। उसके बाद चेहरे को नर्म तौलिए या रुमाल से साफ करें। ऐसा करने से फाइन लाइंस दिखने का रिस्क कम होता है। 

एंटी पॉल्यूशन फेस मास्क
एंटी पॉल्यूशन फेस मास्क के प्रयोग से चेहरे पर मौजूद डस्ट और डर्ट पूरी तरह से क्लीन होने लगती है। इसके अलावा फेस स्किन, क्लीन और सॉफ्ट होती है। स्किन नरिशमेंट के लिए वीक में दो बार फेस मास्क को चेहरे पर लगाएं। इससे स्किन की रफनेस और टैनिंग दूर होने लगती है। डीप क्लीजिंग के बाद फेस स्किन को सॉफ्ट बनाने के लिए फेस मास्क को 10 से 15 मिनट तक चेहरे पर लगाए रखें। 

यूज करें सनस्क्रीन
चेहरे को सन रेज से होने वाले डैमेज और पॉल्यूशन से बचाने के लिए सनब्लॉक क्रीम या एसपीएफ अवश्य लगाएं। स्किन नेचर के हिसाब से एसपीएफ का चुनाव करें। इसके अलावा सनस्क्रीन स्किन को एजिंग के प्रभाव से भी बचाने में कारगर साबित होती है। 

फेस को करें प्रोटेक्ट
स्किन को सन रेज डैमेज और पॉल्यूशन से बचाने के लिए हैट, कैप, छाता या स्कार्फ से ढंक कर ही घर से बाहर निकलें। इससे चेहरा सूरज की किरणों से प्रभाव से बचेगा, साथ ही चेहरे और गर्दन पर होने वाली टैनिंग की समस्या भी नहीं होगी। 

डाइट में शामिल करें एंटी-ऑक्सीडेंट रिच फूड्स 
अपनी डाइट में एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर फूड्स को शामिल करने से आपको बहुत फायदा मिलता है। विटामिन सी, विटामिन-ई और ओमेगा-3 की पर्याप्त मात्रा वाले फूड्स जैसे संतरा, बादाम, अलसी आदि को भी डाइट में शामिल करें। इनमें मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट्स, स्किन प्रोटेक्शन करने के साथ ही प्रदूषण के प्रभावों को रोकने में भी मदद करेंगे। 

Share this story