भारत की पारंपरिक रचनात्मक कला : 'मेहंदी'  विषयक एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया

Mehndi kala
 

ब्यूरो चीफ आर एल पाण्डेय

लखनऊ। महिला विद्यालय डिग्री कॉलेज  में छात्राओं के व्यक्तित्व विकास के लिए गठित रचनात्मक कला क्लब द्वारा ' भारत की पारंपरिक रचनात्मक कला : मेहंदी'  विषयक एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।
     प्राचार्या के निर्देशन तथा क्लब की इंचार्ज डा. रश्मि श्रीवास्तव के संयोजन में आयोजित ये कार्यक्रम दो सत्र में संपन्न हुआ।

   कार्यक्रम के प्रथम सत्र में निम्न क्रिया कलाप हुए..
1. भारत में मेंहदी कला का इतिहास संदर्भी  व्याख्यान।
2. मेंहदी कला के प्रकार संदर्भी व्याख्यान।
3.  मेंहदी का पौधा लगाने की विधि का वीडियो प्रदर्शन
4. मेंहदी उत्पाद को रोजगार के रूप में
 अपनाए जानें की प्रक्रिया का वीडियो प्रदर्शन।
5. मेंहदी के महत्व की व्याख्या।

   कार्यक्रम के द्वितीय सत्र में मेंहदी लगाने के अभ्यास के तहत निम्न क्रियाकलाप आयोजित हुए...

1. मेंहदी का कोन बनानें वा मेंहदी लगाने की विधि संदर्भी वीडियो का प्रदर्शन।
2. मेंहदी लगाते समय ध्यान रखने योग्य तथ्यों पर व्याख्यान।
3. छात्राओं द्वारा मेंहदी लगाने का अभ्यास।
      रचनात्मक कला क्लब के सदस्यगण  डा. प्रमिला तिवारी डा. विभा यादव, डा .देवयानी अवस्थी , डा.वंदना यादव, डॉ. अनुपम सिंह, डा.आयुषी जैसवाल ,डॉ जूली सोनकर वा वसीम जेहरा ने  कार्यक्रम के आयोजन में अपना  अभूतपूर्व सहयोग दिया।   रेनू श्रीवास्तव ने कार्यक्रम के व्यवस्थापन का कार्यभार सुचारू रूप से सम्हाला।
   बड़ी संख्या में छात्राओं ने कार्यक्रम में भाग लिया तथा वे कार्यक्रम से लाभान्वित हुई।

Share this story