सभी देश चाहते हैं कि भारत पूरे विश्व का नेतृत्व करें:आनंदीबेन पटेल

All countries want India to lead the whole world: Anandiben Patel
सभी देश चाहते हैं कि भारत पूरे विश्व का नेतृत्व करें:आनंदीबेन पटेल
उत्तर प्रदेश डेस्क लखनऊ (आर एल पाण्डेय)। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने राजनीति में बढ़ते परिवारवाद पर चिंता जतायी है। उन्होंने कहा कि मनमाफिक टिकट न मिलने पर दूसरे प्रत्याशी को चुनाव हरा दिया जाता है। इस बार चुनाव में यह सब सामने भी आया। नेताओं में बढ़ रही यह प्रवृत्ति सही नहीं है। आज सभी देश चाहते हैं कि भारत पूरे विश्व का नेतृत्व करें।


राज्यपाल ने कहा कि मोदी पूरी दुनिया में सबसे लोकप्रिय नेता बन गए हैं इसलिए हमें कुछ मिला या नहीं मिला इसकी चिंता छोड़कर देश को विश्व में नंबर एक बनाने के लिए सामूहिक प्रयास करें। राज्यपाल बुधवार को बरतारा स्थित विनोबा सेवा आश्रम में आयोजित विनोबा विचार प्रवाह गोष्ठी में बोल रही थीं।उन्होंंने कहा कि अमेरिका जैसा देश एक समय पूरी दुनिया को नचाता था। वहां के राष्ट्रपति अब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिलने के लिए दौड़े आते हैं। उन्होंने कहा कि यह देश के 140 करोड़ लोगों की ताकत है।

सभी देश चाहते हैं कि भारत पूरे विश्व का नेतृत्व करें:आनंदीबेन पटेल

सरकार ने 25 लाख परिवारों को बीपीएल श्रेणी से बाहर निकाला। केंद्र की योजनाओं के जरिए महिलाएं आगे बढ़ रही हैं। सरकार महिलाओं को ड्रोन दीदी बना रही है। अब महिलाओं के घरेलू हिंसा के मामले घट रहे हैं। इसलिए जरूरत है कि जो भी याेजनाएं चलाई जा रही हैं उनका लाभ लोगों तक पहुंचे। इसमें प्रधानों की भूमिका सबसे अहम है। जब गांव में सभी पात्रों तक योजनाओं का लाभ होगा तो बदलाव भी दिखेगा।

उन्होंने लोगों से सेवा भाव से समाज के लिए काम करने का आह्वन किया। इससे पहले यहां अहिंसा प्रेक्षागृह व ग्रंथागार पुस्तकालय का लोकार्पण किया तथा बैंक ऑफ बड़ौदा की शाखा का उद्घाटन किया।विनोबा सेवा आश्रम के अधिष्ठाता रमेश भैया द्वारा आयोजित कार्यक्रम में वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि विनोबा सेवा आश्रम की बजह से माननीया राज्यपाल का तीन बार आशीर्वाद मिला।आज के समय में रमेश भइया ने सेवा का जो कीर्तिमान स्थापित किया है, वह बहुत कठिन है।

सभी देश चाहते हैं कि भारत पूरे विश्व का नेतृत्व करें:आनंदीबेन पटेल
हरिजन सेवक संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ शंकर कुमार सान्याल ने कहा कि अंतिम जन का उदय ही भारत का उदय है। पद्म श्री, जल योद्धा उमा शंकर पांडेय ने कहा कि रमेश भइया आज की पीढ़ी के विनोबा भावे हैं।हर खेत पर मेड़, और मेड़ पर पेड़ लगाकर जल बचाएं। सेवा धाम उज्जैन के सुधीर भाई गोयल ने कहा कि नर सेवा नारायण सेवा। कर भला तो हो भला। सर्वोदय आश्रम की अधिष्ठाता उर्मिला बहन ने कहा कि युवाओं को समाज सेवा में आगे आना चाहिए।बाली, इंडोनेशिया से आये पद्म श्री इंद्रा उद्यान ने कहा कि अहिंसा प्रेक्षागृह का उद्घाटन हमारी दादी ओका उद्यान ने किया था।मुझे खुशी है कि आज यह सपना आश्रम ने पूरा किया है। इससे हजारों बच्चों को लाभ होगा। 
संयुक्त सचिव अजय पांडेय ने सभी अतिथियों और अभ्यागतों के प्रति आभार व्यक्त किया। 


इस अवसर पर विधायक अरविंद सिंह, चेतराम, महापौर अर्चना वर्मा,जिला पंचायत अध्यक्ष ममता यादव, मोहित भइया, मुदित भइया,ममता सक्सेना हरदोई केमुकुल सिंह, अनुराग श्रीवास्तव,संजय अग्निहोत्री, योगेंद्र यादव अखिल सिंह चंदेल, भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ के जिला संयोजक नवनीत गुप्ता आदि सहित तमाम सभ्रांत जन मौजूद रहे। विनोबा विचार प्रवाह से जुड़े पद्म श्री अगुस् इंद्रा उदयना इंडोनेशिया,अंतिम जन की सेवा के लिए डॉ शंकर कुमार सान्याल, राजनीति की शुचिता के लिए कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना,जल एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए पद्म श्री उमा शंकर पांडेय, रचनात्मक विचारों के लिए श्री भगवान शर्मा, शीना शर्मा,मानव सेवा के लिए सेवा धाम उज्जैन के संस्थापक सुधीर भाई गोयल आदि को विनोबा रत्न सम्मान महामहिम राज्यपाल के कर कमलों से सम्मानित किया गया।


विनोबा सम्मान श्री पानी फ़ैज़ाबाद के सचिव भारत भूषण, एम ट्रस्ट लखनऊ के संजय राय,मऊ चित्रकूट के शैक्षिक उन्नयन के लिए सुंदर लाल सुमन/हरदोई स्वच्छता  सर्वेक्षण 2024-2025 के ब्रांड एम्बेसडर अंबरीष कुमार सक्सेना,उत्तराखंड आस्था सेवा संस्थान के सचिव राकेश चंद्रा, रिलायंस सेवा पॉवर ट्रस्ट की डॉ संगीता सोम,प्रमोद प्रमिल,डॉ पुनीत मनीषी, विकास खुराना,सुशील अग्रवाल, जसमीत साहनी,दिल्ली विश्वविद्यालय की डॉ निशा त्यागी,प्रोफेसर डॉ भारती देवी,डॉ गौरव कौशल,राम चंद्र सिंघल नीरज बाजपेयी,विक्रम जीत सिंह,  विशम्भर नाथ मलिक आदि को समाज की रचनात्मक सेवा एवं महिला सशक्तिकरण के लिए शीना शर्मा को महामहिम राज्यपाल ने सम्मानित किया।विमला बहन ने सभी अतिथियों को तुलसी का पौधा प्रदान कर अभिनंदन किया।  सम्मेलन का संचालन संजय राय ने किया।

Share this story