पुलिस महानिदेशक उ०प्र० द्वारा ईद-उल-जुहा (बकरीद) त्यौहार को सकुशल सम्पन्न कराये जाने के सम्बन्ध में दिये गये निर्देश

Instructions given by Director General of Police, Uttar Pradesh regarding the safe completion of Eid-ul-Zuha (Bakrid) festival
Instructions given by Director General of Police, Uttar Pradesh regarding the safe completion of Eid-ul-Zuha (Bakrid) festival
उत्तर प्रदेश डेस्क लखनऊ(आर एल पाण्डेय)। प्रशान्त कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तर प्रदेश द्वारा समस्त जोनल अपर पुलिस महानिदेशक/पुलिस आयुक्त, परिक्षेत्रीय, पुलिस महानिरीक्षक/पुलिस उपमहानिरीक्षक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक जनपद प्रभारी उ०प्र० को दिनांकः 17.06.2024 को मनाये जाने वाले ईद-उल-जुहा (बकरीद) त्यौहार को सकुशल सम्पन्न कराये जाने के सम्बन्ध में मुख्यतः निम्न बिन्दुओं पर कार्यवाही के निर्देश दिये गये

 

* त्यौहार रजिस्टर का परिशीलन कर विगत वर्षों में हुये विवाद तथा संवेदनशीलता के आधार पर हॉटस्पाट चिन्हित कर लिया जाय। ऐसे सभी स्थानों का संवदेनशीलता के आधार पर वरिष्ठ अधिकारी द्वारा भ्रमण कर समुचित सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित की जाय। किसी भी गैर परम्परागत आयोजन की अनुमति प्रदान न की जाय।

* विगत वर्षों में बकरीद के अवसर पर कुर्बानी / नमाज आदि को लेकर यदि कोई विवाद परिलक्षित हुआ हो तो उसका तत्परतापूर्वक निस्तारण करा लिया जाय। इसी क्रम में यदि कोई नया विवाद प्रकाश में आया हो तो समयान्तर्गत उसका भी निस्तारण करा लिया जाय।

* थाने पर उपलब्ध रजिस्टर न०-8 की प्रविष्टियों का अध्ययन कर साम्प्रदायिक एवं अवॉछनीय तत्वों के विरूद्ध आवश्यक्तानुसार कड़ी निरोधात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की जाय।

* छोटी से छोटी घटना को गम्भीरता से लिया जाय तथा घटनास्थल का तत्काल निरीक्षण करते हुए विद्यमान विवाद को हल करने तथा साम्प्रदायिक संवेदनशीलता को समाप्त करने हेतु कड़े एवं प्रभावी उपाय सुनिश्चित किये जाये। 
* गोवध जैसी घटनाओं तथा गोवंश के अवैध परिवहन पर पूर्ण प्रभावी नियंत्रण करने के लिये आवश्यक प्रभावी उपाय किये जाये।

* नमाज के समय ईदगाहों / मस्जिदों के निकट आवागमन के मार्गों पर जानवरों का विचरण न होने पाये।

* त्यौहार शान्तिपूर्ण वातावरण में सम्पन्न कराने हेतु धर्मगुरूओं व सम्भ्रान्त नागरिकों के साथ गोष्ठी कर ली जाये तथा सार्वजनिक मार्गो को अवरोध कर नमाज पढ्ने
हेतु मना किया जाय। • स्थानीय अभिसूचना इकाई एवं अन्य अभिसूचना तंत्र को सक्रिय रखा जाये तथा
शरारती तत्वों की सतर्क निगरानी करते हुये आवश्यकतानुसार निरोधात्मक / विधिक कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।

* जनपद में उपलब्ध पुलिस बल का व्यवस्थापन अधिक से अधिक संख्या में कानून व्यवस्था हेतु किया जाय। दंगा निरोधक उपकरणों से सुसज्जित रिजर्व पुलिस बल तैयारी हालत में रखा जाय।

* त्यौहार के अवसर पर कमिश्नरेट / जनपदों को जोन व सेक्टर में विभाजित करते हुए प्रत्येक जोन व सेक्टर में मजिस्ट्रेट एवं समकक्ष पुलिस अधिकारी व पर्याप्त पुलिस बल नियुक्त किया जाय।
* यूपी-112 के वाहनों का संवेदनशील क्षेत्रों, स्थलों एवं मार्गों पर व्यवस्थापन किया जाय।
* मिश्रित आबादी एवं संवेदनशील क्षेत्रों की ड्रोन कैमरो के माध्यम से निगरानी की जाय।
* सीसीटीवी कैमरा के व्यवस्थापन हेतु संवेदनशील स्थानों / चौराहों का चयन तथा वीडियोग्राफी की टीमों का गठन करा लिया जाय।
* प्रातःकालीन चेकिंग हेतु मार्निंग पार्टी का गठन समस्त थाना क्षेत्रों में किया जाये। इस टीम द्वारा संवेदनशील स्थानों के आस-पास आपत्तिजनक बैनर, पोस्टर, वस्तुये इत्यादि होने पर समय रहते आवश्यक कार्यवाही की जाय।
* समस्त कमिश्नरेट/ जनपद की सोशल मीडिया टीम 24x7 सोशल मीडिया के प्रत्येक प्लेटफार्म पर निगरानी रखें तथा मुख्यालय स्थित सोशल मीडिया टीम से समन्वय रखते हुये आपत्तिजनक / भ्रामक पोस्ट का तुरंत संज्ञान लेकर त्वरित वैधानिक कार्यवाही की जाय।

Share this story