लखनऊ विश्वविद्यालय के महिला अध्ययन संस्थान ने कोर्स का नाम बदलकर एमए इन वीमेन एंड जेंडर स्टडीज किया 

Lucknow University's Institute of Women's Studies changed the name of the course to MA in Women and Gender Studies
उत्तर प्रदेश डेस्क लखनऊ(आर एल पाण्डेय)।लखनऊ विश्वविद्यालय के महिला अध्ययन संस्थान ने अपने मास्टर ऑफ आर्ट्स (एमए) इन वीमेन स्टडीज कार्यक्रम का नाम बदलकर मास्टर ऑफ आर्ट्स (एमए) इन वीमेन एंड जेंडर स्टडीज कर दिया है।

यह बदलाव शैक्षणिक परिदृश्य में हो रहे विकास और समावेशिता और व्यापक शिक्षा के प्रति संस्थान की प्रतिबद्धता को दर्शाता है।संशोधित कोर्स शीर्षक, एमए इन वीमेन एंड जेंडर स्टडीज, एक व्यापक दृष्टिकोण का संकेत देता है, जिसमें न केवल महिलाओं के मुद्दे शामिल हैं बल्कि लिंग के जटिल गतिशीलता भी शामिल हैं। इस बदलाव का उद्देश्य छात्रों को लिंग संबंधों, अंतरसंबंधिता, और लिंग स्पेक्ट्रम के विभिन्न अनुभवों की गहरी समझ प्रदान करना है।

 कोर्स के लाभ: 

व्यापक पाठ्यक्रम: यह कोर्स जेंडर थ्योरी, फेमिनिस्ट रिसर्च मेथडोलॉजी, सेक्सुएलिटी स्टडीज, और इंटरसेक्शनल एनालिसिस जैसे प्रमुख विषयों को कवर करने वाला विस्तृत पाठ्यक्रम प्रदान करता है।

 अंतरविषयक दृष्टिकोण: छात्रों को समाजशास्त्र, मानवशास्त्र, इतिहास, और सांस्कृतिक अध्ययन जैसे क्षेत्रों से जुड़ने का लाभ मिलेगा।बेहतर करियर अवसर: स्नातक शिक्षा, सामाजिक कार्य, सार्वजनिक नीति, वकालत, और गैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ) में करियर के लिए अच्छी तरह से सुसज्जित होंगे, जहां लिंग मुद्दों की समझ का महत्व बढ़ता जा रहा है। 

 अनुसंधान और व्यावहारिक कौशल: कार्यक्रम सैद्धांतिक ज्ञान और व्यावहारिक कौशल दोनों पर जोर देता है, जिससे छात्रों को सार्थक अनुसंधान करने और प्रभावी वकालत में संलग्न होने के लिए तैयार किया जाता है।

 वैश्विक दृष्टिकोण: यह कोर्स विभिन्न संस्कृतियों और वैश्विक संदर्भों से दृष्टिकोण शामिल करता है, जिससे छात्रों की लिंग मुद्दों की समझ और समृद्ध होती है। महिला अध्ययन संस्थान एक समावेशी और समान शैक्षणिक वातावरण को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है। यह नाम परिवर्तन समकालीन शैक्षणिक और सामाजिक चर्चाओं के साथ कार्यक्रम को संरेखित करने में एक महत्वपूर्ण कदम है।

Share this story