मड़ियांव पुलिस ने दुष्कर्म आरोपी एक नफर बाल अपचारी को संरक्षण में लिया 
 

Madiyanv police took a juvenile offender accused of rape under protection
उत्तर प्रदेश डेस्क लखनऊ(आर एल पाण्डेय)। थाना मड़ियांव की पुलिस टीम द्वारा दुष्कर्म सम्बन्धी मुकदमें का अनावरण करते हुए 01 नफर बाल अपचारी को पुलिस अभिरक्षा में लिया गया घटना का संक्षिप्त विवरण बताते हुए पुलिस ने कहा कि 


दिनांक 14.06.2024 को आवेदिका उम्री करीब 17 वर्ष द्वारा बाबत वादिनी / पीडिता के साथ मार पीट करना व जबरदस्ती शारीरिक सम्बन्ध बनाने व जातिसूचक शब्द प्रयोग करने के सम्बन्ध में प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया। प्रस्तुत प्रार्थना पत्र के आधार पर थाना स्थानीय पर मु0अ0सं0 363/24 धारा 363/366/354क/376 (2एन)/323/504/506 भादवि व 5एल/6, 7/8 पाक्सो एक्ट व 3(2)v, 3(1)द, 3 (1)ध एससीएसटी एक्ट बनाम अभियुक्तगण आदि के पंजीकृत किया गया।

आज दिनांक 09.07.2024 को पुलिस टीम यादव चौराहे पर मामूर थी कि मुखबिर खास ने आकर बताया कि आप जिस व्यक्ति की तलाश कर रहे है वह व्यक्ति कैरियर मेडिकल कालेज चौराहा से घैला पुल की और जाने वाले रास्ते पर चौराहे से थोडा आगे कहीं जाने की फिराक में खडा है, यदि जल्दी किया जाये तो पकडा जा सकता है। इस सूचना पर पुलिस टीम मुखविर के बताये गये स्थान पर पहुँची

तथा मुखबिर के द्वारा बताये गये खड़े व्यक्ति को पकड़ लिया गया। पकड़ा गये व्यक्ति की उम्र 16 साल है, व्यक्ति नाबालिग है। पकड़े गये व्यक्ति से कारण अभिरक्षा बताते हुये थाना स्थानीय पर पंजीकृत मु0अ0सं0 363/24 धारा 363/366/354क/376 (2एन)/323/504/506 भादवि व 5एल/6, 7/8 पाक्सो एक्ट व 3(2)v, 3(1) द, 3(1)ध एससीएसटी एक्ट में नियमानुसार पुलिस अभिरक्षा में लिया गया। दौराने अभिरक्षा माननीय सर्वोच्च न्यायालय व मानवाधिकार आयोग के आदेशों/निर्देशों का अक्षरशः पालन किया गया। बाल अपचारी के पुलिस अभिरक्षा की सूचना उसके पिता राम निवास को सूचना दी गई। विधिक कार्यवाही पूर्ण कर बाल अपचारी को माननीय न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया जा रहा है।

Share this story