aapkikhabar aapkikhabar

10 अक्टूबर से शुरू हो रहे शारदीय नवरात्र कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त जानिए



aapkikhabar
+2

डेस्क-शारदीय नवरात्र का आरंभ हर साल आश्विन शुक्ल प्रतिपदा के दिन होता है। इस वर्ष यह तिथि 10 अक्टूबर को है।कल से शुरू हो रह है कि नवरात्र के पहले दिन शुभ मुहूर्त में कलश स्थापित करने के बाद नवग्रहों, पंचदेवता, ग्राम और नगर देवता की पूजा के बाद विधि-विधान से माता की पूजा करनी चाहिए।


PAKvsAUS Haris Sohail ने लगाई टेस्ट में पहली सेंचुरी Australia को जीत के लिए अभी चाहिए 452 रन


PAKvsAUS Haris Sohail और Asad Shafiq इन दोनों खिलाडियों ने पूरा किया अपना अर्धशतक



  • ऐसी मान्यता है कि मंगल कलश की स्थापना से नवरात्र में देवी पूजन सफल और फलदायक होता है।

  • इसलिए बड़े-बड़े पंडालों से लेकर सामान्य गृहस्थ तक अपने घर में कलश बैठाते हैं।

  • कलश की स्थापना से यह भी पता चलता है कि आपके लिए आने वाला साल कैसा रहेगा।

  • इसलिए शुभ मुहूर्त में ही कलश की स्थापना करनी चाहिए।


नवरात्र कलश स्थापना शुभ मुहूर्त
इस साल कलश स्थापित करने का शुभ मुहूर्त सुबह 07बजकर 26 मिनट तक है। अगर इस समय तक कलश नहीं बैठा पाते हैं तो फिर आपको दोपहर तक का इंतजार करना होगा। दोपहर में अभिजित मुहूर्त 11 बजकर 51 मिनट से लेकर 12 बजकर 39 मिनट तक रहेगा। इस दौरान नवरात्र पूजन के लिए कलश स्थापित किया जा सकता है।


पंचांग के अनुसार इस वर्ष सुबह 07 बजकर 26 मिनट तक ही प्रतिपदा तिथि है। इसके बाद द्वितीय तिथि लग जाएगी लेकिन द्वितीया तिथि को क्षय माना जाएगा क्योंकि सूर्योदय के समय प्रतिपदा तिथि रहेगी इससे परे दिन प्रतिपदा तिथि ही मान्य रहेगी। ऐसे में घट स्थापना के लिए सबसे उत्तम समय प्रातः 07 बजकर 26 मिनट तक है।


क्या कहते हैं शास्त्र जानें
धर्मसिंधु नामक ग्रंथ के अनुसार-
सच नवरात्रारम्भः सूर्योदयोत्तरं
त्रिमुहूर्त्तव्यापिन्यां प्रतिपदाकार्याः।
तदभावे द्विमुहूर्त्तव्यापिन्यामपि,
क्वचिन्मुहूर्त्तमात्र-व्यापिनयामपि उक्तः।
सर्वथा दर्शयुक्त्तप्रतिपदि न
कार्यः इति बहुग्रंथः सम्मतम्।।

पिछली स्लाइड     अगली स्लाइड


सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के