aapkikhabar aapkikhabar

Basant Panchami 2019 :बसंत पंचमी को माँ सररस्वती  से विद्या और बुद्धि पाने के लिए करें ये  उपाय



Basant Panchami 2019 :बसंत पंचमी को माँ सररस्वती  से विद्या और बुद्धि पाने के लिए करें ये  उपाय

माँ सररस्वती 

बच्चों की बुदि्ध तेज करने के लिए Basant Panchami के दिन से ही ब्राह्मी, शंखपुष्पी या मेधावटी का देना आरंभ करना चाहिए।


डेस्क- Basant Panchami का दिन मां सरस्वती की पूजा का विशेष दिन माना जाता है और मां सरस्वती ही बुद्धि और विद्या की देवी हैं। मान्यता है कि जिस छात्र पर मां सरस्वती की कृपा हो उसकी बुद्धि बाकी छात्रों से अलग और बहुत ही प्रखर होती है।


ऐसे छात्र को कोई भी विद्या आसानी से प्राप्त हो जाती है। खासतौर पर बसंत पंचमी में दिन यदि कोई छात्र मां सरस्वती की अराधना करे उनके मंत्र का जाप करें या कोई अन्य उपाय करें तो मां सरस्वती की विशेष कृपा प्राप्त होती है।


आइए जानते है वे उपाय जिन्हें Basant Panchami को अपनाने से प्रसन्न होती हैं मां सरस्वती



  • अपनी किताबों/पुस्तकों बसंत पंचमी के दिन मोर पंख रखना चाहिए। मान्यता है कि इससे पढ़ने में मन लगता है।

  • बच्चों की बुदि्ध तेज करने के लिए बसंत पंचमी के दिन से ही ब्राह्मी, शंखपुष्पी या मेधावटी का देना आरंभ करना चाहिए।

  • जिन बच्चों में हकलाने या बोलने में दिक्कत हो तो बांसुरी के छेद से शहद भरकर उसे मोम से बंद कराकर जमीन में गाड़ देना चाहिए।

  • ऐसा करने से बच्चों बोलने की दिक्कत दूर होती है।

  • बसंत पंचमी के दिन प्रातः उठकर बच्चों को अपनी हथेलियां देखनी चाहिए।

  • क्योंकि कहते हैं- कराग्रे लक्ष्मी बसते, कर मध्ये सरस्वती, कर मूले तू गोविदः प्रभाते कर दर्शनम्।

  • यानी हथेली मां सरस्वती का वास होता है जिनकों देखना मां सरस्वती के दर्शन करने के बराबर होता है।

  • जिन लोगों को बोलने में दिक्कत हो उन्हें बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा करने के बाद बीज मंत्र 'ऐं' का जाप जीभ को तालु में लगाकर करना चाहिए।


Basant Panchami 2019: जानें Basant Panchami का क्या है महत्व किस मुहूर्त में करे माँ सरस्वती की पूजा



-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के